बंगाल में बीजेपी की विजय रैलियों पर पाबंदी

0

जय श्रीराम नारे और लोकसभा चुनावों (lok sabha election 2019) में मिली करारी शिकस्त से गुस्साई पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal Chief Minister Mamta Banerjee) का गुस्सा फ़िलहाल शांत नहीं हुआ है और इसी के चलते पश्चिम बंगाल में राजनीतिक बवाल जारी है| राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री (West Bengal Chief Minister)  ममता बनर्जी ने बीजेपी की विजयी रैलियों पर पाबंदी (BJP Victory Rally Bans In West Bengal ) लगा दी है| ममता ने कहा है कि बीजेपी के विजयी जुलूसों को इजाजत नहीं दी जाएगी| साथ ही उन्होंने पुलिस को आदेश दिया है कि उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए|

ज्योतिरादित्य के ख़िलाफ़ दिग्गी परिवार

24 परगना जिले में मारे गए टीएमसी नेता निर्मल कुंडू के घर पहुंची ममता ने कहा (BJP Victory Rally Bans In West Bengal ) कि मुझे जानकारी मिली है कि बीजेपी (bjp) विजय जुलूसों के नाम पर हुगली, बांकुरा, पुरुलिया और मिदनापुर में हिंसा फैला रही है| अब एक भी ऐसा विजयी जुलूस नहीं निकाला जाएगा| उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों के परिणाम आए दस से ज्यादा दिन हो गए हैं, ऐसे में यदि कोई दंगों जैसी स्थिति करने की कोशिश भी करेगा तो पुलिस कानून के हिसाब से कार्रवाई करने और ऐसे लोगों के खिलाफ कड़े एक्‍शन लेने के लिए आजाद है|

BJP उपाध्यक्ष के भाई की गुंडागर्दी, CCTV में कैद वारदात

ममता (BJP Victory Rally Bans In West Bengal ) ने गुरुवार को सीआईडी (cid) और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के साथ निमता का दौरा कर निर्मल के परिजनों से मुलाकात की जिसे अज्ञात हमलावरों ने मार दिया था | ममता ने इस दौरान निर्मल के परिजन से कहा कि मामले की पूरी जांच होगी और इंसाफ मिलेगा| यह सिर्फ हत्या नहीं है, यह एक साजिश है और हम साजिश रचने वाले का पता लगा कर रहेंगे| ममता  ने कहा कि 2014 में जब लोकसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस ने संयुक्त रूप से कई सीटों पर जीत हासिल की थी तो हिंसा नहीं हुई थी| लेकिन अब जब बीजेपी की सीटों में इजाफा हुआ है तो हिंसा खत्म होने का नाम नहीं ले रही है|

शराब पीकर वाहन चलाने वाले सावधान, महीनों की होगी जेल

Share.