मालदीव चीन के साथ खत्म करेगा फ्री ट्रेड एग्रीमेंट

0

मालदीव के नए राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने चीन को करारा झटका दिया है। राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद सोलिह ने ऐलान करते हुए कहा कि वह चीन के साथ अपने फ्री ट्रेड एग्रीमेंट को खत्म करेगी। सोलिह ने कहा कि यह एग्रीमेंट उनके देश द्वारा की गई सबसे बड़ी गलतियों में से एक है।

बंद होगा

मालदीव के राष्ट्रपति के एडवाइजर मो.नशीद ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि संसद इस एग्रीमेंट के लिए कानून में अब कोई बदलाव नहीं करेगी और इसे बंद करेगी। नशीद ने कहा कि चीन और मालदीव के बीच व्यापार असंतुलन काफी ज्यादा है। इस ट्रेड एग्रीमेंट से हमें कोई फायदा नहीं हुआ। यह एक वन वे डील था और चीन हमसे कुछ नहीं खरीदता था। ऐसी परिस्थिति में हम फ्री ट्रेड के बारे में आगे विचार नहीं कर सकते।

देश को लूटा

इससे पहले राष्ट्रपति सोलिह ने इस ट्रेड के लिए पिछली सरकार को जमकर फटकार लगाई थी। सोलिह ने कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की सरकार ने इस देश को लूटा है। सोलिह ने कहा कि पिछली सरकार ने चीन से भारी कर्ज़ लिया था। इस कारण से देश घाटे से दौर से गुज़र रहा है। चीन के साथ रिश्ते सुधारने से हमें नुकसान ही हुआ है।

यामीन थे चीन समर्थक

पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन को चीन का समर्थक माना जाता है। यामीन ने अपने राजनीतिक विरोधियों को या जेल भेज दिया था, या देश से बाहर कर रहे थे। यामीन की कारण भारत-मालदीव के रिश्तों में काफी खटास आ गई थी। चीन का दखल बढ़ने के साथ ही भारत की भूमिका पर सवाल खड़े किए जा रहे थे।

Share.