Kumbha 2019 : कुंभ में शाही स्नान क्यों ख़ास?

0

आज यानी मंगलवार 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व पूरे देश में धूम-धाम से मनाया जा रहा है| इस मौके पर पूरे देश में खुशियां बांटी जा रही है, वहीं प्रयागराज में लाखों लोग शाही स्नान (Shahi Snan Importance) में शामिल होने पहुंचे हैं| आज से शुरू हुआ कुंभ मेला लगभग 50 दिन तक चलेगा| प्रयागराज में चल रहे मेले को दुनिया का सबसे बड़ा पर्व माना जा रहा है| ऐसा कहा जा रहा है कि दुनिया  के सबसे बड़े इस धार्मिक आयोजन में करीब 12 करोड़ लोगों के शिरकत करने वाले हैं|

Image result for कुंभ शाही स्नान

क्या है शाही स्नान (what Is Shahi Snan ?)

ऐसा कहा जाता है कि साधु-संत से जुड़े 13 अखाड़े शुभ-मुहूर्त के लिए तय समय पर संगम या किसी पवित्र नदी में स्‍नान करते हैं| हिन्दू धर्म के अनुसार ऐसा माना जाता है कि शुभ-मुहूर्त में स्‍नान करने से मोक्ष का वरदान मिलता है, इसीलिए इसे ख़ास माना जाता है| हर पर्व पर धार्मिक आधार पर शाही स्‍नान (Shahi Snan Importance) का समय और अवधि प्रशासन द्वारा तय किया जाता है|

देखें वीडियो

Image result for कुंभ शाही स्नान

मोक्ष की प्राप्ति के लिए सभी साधू संत शाही स्नान करते हैं| हर अखाड़ा तय समय अनुसार अपने वैभव और शक्ति का प्रदर्शन करने के साथ हाथी-घोड़े और सोने-चांदी की पालकियों और शस्‍त्रों के साथ स्‍नान के लिए पहुंचते हैं| कुंभ में हमेशा नागा अखाड़ों के शाही स्‍नान सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र होते हैं| शिव के भक्‍त इन नागा साधुओं की एक रहस्‍यमय दुनिया है| केवल कुंभ में ही ये दिखते हैं|

Image result for कुंभ शाही स्नान

प्रधानमंत्री ने दी शुभकामनाएं

Related image

प्रधानमंत्री मोदी ने भी जनता को इस अवसर पर शुभकामनाएं दीं और लोगों से प्रयागराज में आज से प्रारंभ हुए कुंभ मेले में शामिल होने की अपील की| पीएम मोदी ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए कहा, “मुझे आशा है कि इस अवसर पर देश-विदेश के श्रद्धालुओं को भारत की आध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं सामाजिक विविधताओं के दर्शन होंगे| मेरी कामना है कि अधिक से अधिक लोग इस दिव्य और भव्य आयोजन का हिस्सा बनें|”

 

गौरतलब है कि कुंभ का पहला शाही स्नान शुरू हो चुका है| शाही स्नान में सबसे पहले विभिन्न अखाड़ों के साधु स्नान करते हैं| सूरज की पहली किरण के साथ सबसे पहले जूना अखाड़ा, अटल, महानिर्वाणी और आह्वान अखाडों ने शाही स्नान किया| कुंभ में ब्रह्म मूहर्त के साथ ही ढोल नगाड़ों के नागा साधुओं और संतों की टोली स्नान के लिए निकली|

Image result for कुंभ शाही स्नान

स्नान के लिए अखाड़ो को दिया गया समय
सुबह 6:15 बजे-  महानिर्वाणी, अटल अखाड़ा
सुबह 7:05 बजे-  निर्मला अखाड़ा
सुबह 8  बजे-  जूना, आवाहन, श्रीपंच अग्नि अखाड़ा
सुबह 10:40 बजे- पंच निर्मोही अनि अखाड़ा
सुबह 11:20 बजे- दिगंबर अनि अखाड़ा
दोपहर 12:20 बजे- अनि अखाड़ा
दोपहर 1:15 बजे – नया उदासीन अखाड़ा
दोपहर 2:20 बजे- बड़ा उदासीन अखाड़ा
दोपहर 3:40 बजे – निरंजनी, आनंद अखाड़ा

रंजीता

Kumbh 2019 Photos : स्वागत के लिए तैयार प्रयाग

यह आईडी कार्ड खोजेगा लापता बच्चों को

OMG : कुंभ मेले में भीषण आग

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.