सीएस फाउंडेशन: इंदौर की बेटी ने हासिल की पहली रैंक

1

मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इंदौर का विकास तेज़ी से हो रहा है| शहर लगातार दो बार स्वच्छता में देश  में पहला स्थान हासिल कर चुका है| अब शहर की बेटियों ने भी देश में शहर का नाम रोशन किया है| दरअसल, ‘द इंस्टिट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज़ ऑफ इंडिया’ ने बुधवार को सीएस फाउंडेशन का परिणाम घोषित किया, जिसमें पहले और दूसरे स्थान पर शहर की बेटियों ने कब्जा जमाया|

इंदौर के 15 विद्यार्थियों ने ऑल इंडिया रैंकिंग में स्थान हासिल किया है, जिसमें महिमा संचेती ने पहला स्थान, स्नेहा जैन ने एआईआर 2 और हर्षिता किरकिरे ने एआईआर 9 प्राप्त किया| इस बार शहर का परिणाम 63.36 प्रतिशत रहा,  जबकि जून 2017 का परिणाम 63 प्रतिशत था|

फाउंडेशन और सीपीटी में उत्तीर्ण विद्यार्थी जून में होने वाली एक्जीक्यूटिव एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं| इसके लिए 31 अगस्त तक इंस्टिट्यूट रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है| वहीं दिसंबर में होने वाली सीएस फाउंडेशन की परीक्षा के ऑनलाइन फॉर्म 1 सितंबर से भरे जाएंगे|

महिमा संचेती को 100 में से 100 अंक

सीएस में एआईआर-1 रैंक पर आई महिमा संचेती को बिजनेस एंड एन्वायर्नमेंटल लॉ में 100 में से 100 अंक प्राप्त हुए हैं| उनका कहना है कि यदि मैनेजमेंट पर भी थोड़ा और ध्यान देती तो उसमें भी बेहतर अंक ले आती| महिमा ने कहा कि टॉप करने के लिए रटने के बजाय तर्कों पर ध्यान देना जरूरी है| हर विषय पर पूरा ध्यान देने की आदत और अलग-अलग रेफरेंसेस से पढ़ने की कोशिश सफलता में सहायक होती है|

दूसरे स्थान पर आने वाली बीना की रहने वाली स्नेह जैन ने इंदौर में ही रहकर पढ़ाई की है, उसने बताया कि यह कोर्स ऐसा है जिसमें शुरुआती दौर से ही लगातार पढ़ाई करना होती है| शुरुआती महीनों में मैंने 3 से 4 घंटे ही पढ़ाई की, लेकिन परीक्षा के 4 माह पहले हर दिन करीब 8 से 10 घंटे की पढ़ाई की| मुझे एग्जाम फियर है इसलिए इस डर को कम करने के लिए मैंने सकारात्मक सोच को लेकर ही काम किया|

यह खबर भी पढ़े – होटल ‘द ग्रैंड भगवती’ पर हज़ारों का जुर्माना

यह खबर भी पढ़े – बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों की संख्या तीन गुना

यह खबर भी पढ़े – ट्रांसपोर्टर्स ने कहा – आर-पार की लड़ाई

 

Share.