इंदौर में 66 मरीज कोरोना के, दहशत में पूरा शहर

0

मध्यप्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों ने सरकार और प्रशासन की चिंताएं बढ़ा दी है। अब यह डर पैदा होने लगा है कि कहीं राज्य कोरोना के मामले में महाराष्ट्र से भी आगे ना निकल जाए।

बुधवार को मध्य प्रदेश में कोरोना के 20 नए मरीज सामने आए हैं और राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 86 हो गई है। मध्यप्रदेश में बच्चे, बुजुर्ग सभी वर्ग में कोरोना फैला है, जो कि चिंताजनक है।
सामने आए 20 नए मामलों में 19 इंदौर से हैं और एक खरगौन से। इंदौर से जो मामले आए हैं उसमें से 9 एक ही परिवार से हैं। इंदौर के तंजीम नगर में रहने वाले इस परिवार के 3 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन बच्चों की उम्र 3 साल, 5 साल और 8 साल है।
कोरोना वायरस के अबतक के संक्रमण पर गौर करें तो उम्रदराज व्यक्ति ही इस बीमारी की चपेट में ज्यादा आते थे। लेकिन अब कम उम्र के बच्चों में हो रहा संक्रमण चिंताजनक है।
इंदौर के कोरोना पॉजिटिव लोगों में एक पुलिस अधिकारी का नाम भी सामने आया था, हालांकि बाद में पुलिसकर्मी की रिपोर्ट निगेटिव आई।
बता दें कि इंदौर में कोरोना का संक्रमण सबसे ज्यादा है, यहां पर कोरोना के 63 मामले अबतक सामने आ चुके हैं, इनमें से 3 लोगों की मौत हो चुकी है।
ऐसे में इंदौर से अब देश के दूसरे शहरों को सीख लेनी चाहिए। इंदौर शहर जो कि देश के सबसे साफ शहर में से एक है। वहां पर लगातार सामने आ रहे कोरोना के मरीज इस ओर इशारा कर रहे हैं कि यह वायरस किसी का सगा नहीं है। यह आपको और हमें भी प्रभावित कर सकता है। इससे बचने का उपाय भी एक ही है और वह है केवल सावधानी।
उम्मीद है कि इंदौर में सख्ती से पालन कराए जाने वाले कफ्र्यू के कारण यहां कोरोना के मामलों में कमीं आएगी।

-Rahul Kumar Tiwari

Share.