राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल: बाल छोटे न कटवाएं, वरना सास से होगी लड़ाई

0

वैसे तो लड़कियों को कई लोग बचपन से ही ससुराल के नाम पर नसीहतें देते हैं| कभी खाना बनाने को लेकर तो कभी पहनावे को लेकर सास की धौंस दी जाती है| मां और नानी-दादी को नसीहतें देते हुए हमने देखा ही है, लेकिन अब सास को लेकर राजनेता भी बच्चियों को समझाइश देने लगे| दरअसल, मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के विवादित बयान पर बवाल मचा हुआ है| उन्होंने राजगढ़ जिले के कस्तूरबा गर्ल्‍स हॉस्‍टल में छात्राओं से बात की और कहा कि लड़कियों को खाना बनाते आना चाहिए, बाल छोटे नहीं कटवाने चाहिए नहीं तो ससुराल में सास से लड़ाई होगी|

जहां एक ओर मोदी सरकार द्वारा ‘’बेटी पढ़ाओ, बेटी बढ़ाओ’ का नारा लगाया जाता है, वहीं दूसरी ओर उनकी पार्टी के नेता का यह बयान बवाल मचा रहा है| राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हॉस्टल में बच्चियों से कहा, “बेटियों को पढ़ने-लिखने के साथ ही रसोई के कामों में भी दक्ष होना चाहिए नहीं तो  लड़कियां जब ससुराल जाएंगी तो दाल न बना पाने पर सास से उनकी लड़ाई होगी|” उन्होंने आगे कहा कि छात्राओं को बाल छोटे नहीं करवाने चाहि‍ए क्‍योंकि बाल महिलाओं की शान होते हैं| उन्होंने लड़कियों को नसीहत दी, “दाल बनाना, सब्जी काटना, आटा गूंथना नहीं आया तो ससुराल में झगड़े होंगे| इस समस्‍या से बचने के लिए छात्राओं को समूह बनाकर हॉस्टल में खाना बनाना चाहिए|”

राज्यपाल के इस बयान के बाद विपक्ष उन्हें घेरने की तैयारियों में हैं| कांग्रेसियों का कहना है कि ऐसा बयान राज्यपाल द्वारा नहीं दिया जाना चाहिए| भाजपा के नेता अपने ही कथन पर नहीं टिके रहते हैं| जानकारी के अनुसार आनंदीबेन पटेल ने हॉस्टल में छात्राओं से प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, राष्ट्रपति और राज्यपाल के नाम पूछे और उनके साथ हंसी-मजाक भी किया|

Share.