ग्वालियर में कांग्रेसियों ने किया सिंधिया का विरोध, वजह जाने

0

कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामने वाले पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को अब अपने ही गढ़ ग्वालियर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ रहा है. बात यहां तक बिगड़ गई है कि मध्य प्रदेश के ग्वालियर कलेक्टर और एसपी (Gwalior Collector-SP) के खिलाफ वहां के अलग-अलग 4 पुलिस थानों में एफआईआर (FIR) दर्ज कराने के लिए शिकायत की गई है. शिकायतें करने वाले कांग्रेसियों का आरोप है कि कोरोना संक्रमण को लेकर तमाम गाइडलाइन के बावजूद भी ग्वालियर में सदस्यता अभियान को लेकर बीजेपी (BJP) ने कार्यक्रम किया और इस कार्यक्रम को पुलिस और प्रशासन की सहायता मिली. 

योगी राज में 48 घंटों में एक दर्जन हत्या, प्रियंका ने दिखाया क्राइम ग्राफ

अब इस पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस को पहले अपना घर देखना चाहिए.प्रदेश कांग्रेस के ग्वालियर-चम्बल संभाग के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने कांग्रेस नेताओं और वरिष्ठ अभिभाषकों के साथ जाकर थाना पड़ाव में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र सिंह को ग्वालियर के कलेक्टर और एसपी के खिलाफ चार थाना क्षेत्रों में एफआईआर दर्ज करवाने के लिए अलग-अलग आवेदन दिए. मिश्रा ने बताया कि इन दोनों ही अधिकारियों ने कोविड-19 को लेकर भारत सरकार के गृहमंत्रालय की 31 अगस्त 2020 तक जारी की गई गाइडलाइन और हर रविवार को होने वाले लाॅकडाउन का उल्लंघन कर राजनीतिक दबाव में बीजेपी को फायदा पहुंचाया

IPL के 13वें सीजन के लिए युएई पहुंचे धोनी की तस्वीर वायरल

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्रसिंह से कांग्रेस नेताओं ने यह भी कहा कि भारत सरकार की कोविड़-19 और अनलाॅक-3.0 को 31 अगस्त तक के लिये घोषित और कलेक्टर ग्वालियर के आदेश चार अगस्त के अंतर्गत धारा-144 के बिंदु क्रमांक 6 में उल्लेखित है कि सामाजिक, राजनैतिक, खेलकूद, मनोरंजन, एकेडमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम एवं अन्य बड़े सम्मेलन प्रतिबंधित रहेंगे. इसके बावजूद इन नियमों को सख्ती से पालन करवाने वाले जिला और पुलिस प्रशासन के मुखियाओं ने ही इन आदेशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाकर भाजपा के तीन दिवसीय सदस्यता अभियान को होने दिया. उन्होंने बताया कि गृहमंत्रालय की गाइड लाइन 31 अगस्त 2020 तक जारी है, लेकिन कलेक्टर ग्वालियर ने जारी अपने आदेश में उक्त अवधि को कम कर 14 अगस्त, 2020 तक कर दिया. ताकि 22-24 अगस्त में भाजपा का तीन दिवसीय आयोजन हो सके.

 

बीजेपी का जवाब
शिवराज सरकार के मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि ग्वालियर में सदस्यता अभियान चुनाव के चलते चलाया जा रहा है. यह कार्यक्रम इसलिए रखा गया क्योंकि कांग्रेस के कई विधायक बीजेपी में आए हैं और उनके समर्थक कार्यकर्ता बड़ी संख्या में बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. ऐसे में इस कार्यक्रम का करना जरूरी था. किसी नियम और गाइडलाइन को नहीं तोड़ा गया. बीजेपी सोशल डिस्टेंस लेकर कोविड-19 नाम गाइडलाइन का पालन कर रही है. कांग्रेस का काम सिर्फ आरोप लगाना है. उसने अपने कार्यकाल में कोई विकास का काम नहीं किया. उसके पास कोई काम नहीं है. अब वह सिर्फ आरोप लगा सकती है. कांग्रेस पहले अपने अंदर चले कलह को दूर करें फिर बीजेपी पर आरोप लगाए.

Share.