महापौर आलोक शर्मा के खिलाफ केस कर्ज

0

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मतदान के बाद डीआईजी बंगले के बाहर चक्काजाम करने वाले महापौर आलोक शर्मा और भोपाल उत्तर विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार फातिमा सिद्दीकी के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का केस दर्ज हुआ है। इसके अलावा कई भाजपा पार्षदों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल बुधवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हुआ था। मतदान के वक्त आरिफ नगर के एक बूथ पर हंगामा हो गया था। हंगामे के बाद भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए थे। विवाद के बीच भाजपा नेता पंकज चौकसे की भोपाल उत्तर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार आरिफ अकील के समर्थकों ने पिटाई कर दी। वक्त रहते पुलिस वहां पहुंच गई और पंकज को बचा लिया।

विवाद के बाद महापौर आलोक शर्मा और भाजपा उम्मीदवार फातिमा सिद्दीकी सहित कई कार्यकर्ताओं ने डीआईजी बंगले के बाहर चक्काजाम कर दिया। इसका एक वीडियो भी सामने आया था। उत्तर विधानसभा के आरिफ नगर स्थित मतदान केंद्र चार और पांच पर समय खत्म होने के बाद भी वोटिंग कराए जाने के विवाद पर भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता भिड़ गए। आरिफ अकील के छोटे भाई आमिर ने साथियों के साथ मिलकर भाजपा के पूर्व पार्षद और भाजपा मंडल के उपाध्यक्ष पंकज चौकसे सहित दो लोगों से जमकर मारपीट की।

पुलिस ने दोनों तो बचाया तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन पर ही पथराव कर दिया। इसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। इसके बाद क्यूआरएफ की टीम ने बल प्रयोग कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया। आरिफ अकील भी समर्थकों के साथ भी मौके पर पहुंच गए। देखते ही देखते बड़ी संख्या में भाजपा समर्थक डीआईजी बंगले पर जमा हो गए।

महापौर आलोक शर्मा व उत्तर से भाजपा उम्मीदवार फातिमा सिद्दीकी सहित अन्य नेता मौके पर पहुंचे। आरिफ अकील और आमिर की गिरफ्तारी की मांग करते हुए प्रदर्शनकारियों ने डीआईजी बंगले पर चक्काजाम कर दिया और धरने पर बैठ गए थे।

आखिर क्यों गुस्सा हुए महापौर आलोक शर्मा ?

मप्र चुनाव :  भोपाल में 61.67 प्रतिशत के साथ खत्म हुआ मतदान

भरे पानी में धरने पर बैठे महापौर  

Share.