तोगड़िया समझ नहीं रहे थे इसलिए बदलाव

0

विश्व हिन्दू परिषद् के नवनिर्वाचित अध्यक्ष जस्टिस वीएस कोकजे पदभार ग्रहण करने के बाद सोमवार पहली बार इंदौर पहुंचे| कोकजे ने इंदौर आकर विश्व हिन्दू परिषद् के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की| उन्होंने इस दौरान मीडिया से भी चर्चा की|

उन्होंने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद् में अध्यक्ष का चेहरा बदला है, लेकिन संगठन का एजेंडा बिलकुल वही है| उन्होंने कहा कि इस संगठन का नियम है कि अध्यक्ष के पद पर कोई भी दो बार से ज्यादा नहीं रह सकता है, लेकिन तोगड़िया तीन बार इस संगठन के अध्यक्ष बन चुके थे| उन्हें लग रहा था कि अब भी बहुमत उनके ही साथ है, लिहाज़ा चुनाव की नौबत आई|

उन्होंने दूसरे मुद्दों पर भी बेबाकी से अपनी राय रखी| उन्होंने राज्य सरकार द्वारा बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने को लेकर उन्होंने कहा कि जिन्हें यह पद दिया गया है वे इसके लायक ही नहीं है| जिन बाबाओं को राज्यमंत्री बनाया गया है, वे संन्यासी ही नहीं है|

कठुआ में 8 वर्षीय बालिका से दुष्कर्म को लेकर उन्होंने इस तरह के कृत्य को शर्मनाक बताते हुए आरोपियों पर कार्रवाई की बात कही| उन्होंने एससी-एसटी एक्ट को लेकर भी न्यायालय के निर्देशों को सही बताया| उन्होंने कहा कि इस मामले में न्यायपालिका जो निर्णय करेगी, वही मान्य होना चाहिए|

Share.