चौथा खान और खनिज सम्मेलन इंदौर में

0

चौथा राष्ट्रीय खान और खनिज सम्मेलन इंदौर में आयोजित किया गया| ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में हुए सम्मेलन का शुभारंभ केंद्रीय खान मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने किया| प्रदेश में पहली बार आयोजित सम्मेलन में मुख्यमंत्री सिंह ने कहा कि पहले लोग माइनिंग के क्षेत्र में जोड़- तोड़ से पट्टे हथिया लेते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है| प्रदेश में अपार खनिज सम्पदा है, जिसका दोहन कर हम प्रदेश का विकास कर रहे हैं| इस मौके पर सीएम ने कहा कि हमने एक नया ब्लॉक खोला है, उम्मीद है यहां अच्छे हीरे प्राप्त होंगे| उन्होंने सम्मेलन में आए सभी 22 राज्यों के मंत्री, प्रमुख सचिव और प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों का अभिवादन किया|

देश तेजी से आगे बढ़  रहा है

मुख्यमंत्री सिंह ने सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खान मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर की जमकर तारीफ की और कहा कि सरकार तेजी से फैसले कर रही है| खनिज नीति में नए परिवर्तन हुए हैं, जिससे सारी व्यवस्था पारदर्शी हो गई है|

कानून का पालन हो इसके लिए रैकिंग सिस्टम

इस मौक़े पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने देश की पारदर्शी खनिज नीति की जानकारी दी और आंकड़े रखे| इसके बाद मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे प्रयास कर रही है कि माइनिंग के क्षेत्र में काम करने वालों में कानून का पालन करने की प्रतिस्पर्धा कायम हो| इसके लिए एक कमेटी बनाकर 5 अलग-अलग ग्रेड में रैंकिग की जा रही है| इसके लिए कमेटी मौके पर पहुंचकर कामकाज की समीक्षा करती है, जिसके बाद एक से लेकर 5 स्टार तक की रैंकिंग दी जाती है, जिससे माइनिंग के क्षेत्र में काम करने वाले ईमानदारी से काम करने के लिए प्रेरित होंगे|

दंड और सज़ा को बढ़ाया

खनन मंत्री तोमर ने कहा कि सरकार ने अवैध खनन को रोकने के लिए कड़े कानून बनाए हैं| प्रति हेक्टेयर जुर्माना राशि  50 हजार से बढ़ाकर 5 लाख की है| हालांकि तोमर ने नर्मदा नदी में हो रहे खनन को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है|  इस मौके पर केंद्रीय खान राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी, मप्र के खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ल, नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत  सहित 22 राज्यों के मंत्री, प्रमुख सचिव और प्रतिनिधिमंडल के सदस्य मौजूद थे|

Share.