इंदौर के IIFA में सितारों का स्वागत इंसान नहीं रोबोट करेंगे

0

  • इंदौर में होने जा रहा 21वां आईफा अवार्ड।
  • IIT इंदौर भी जुटा तैयारियों में, तैयार कर रहा चेहरा देखकर व्यक्ति को पहचानने वाला रोबोट।
  • विशेष टेक्नोलॉजी पर आधारित होंगे रोबोट, देश-दुनिया के सामने इंदौर की निखरेगी इमेज।
  •  रोबोट से होगा सितारों का स्वागत।

स्वच्छता में नंबर 1 शहर इंदौर (Robots Will Wecome IIFA Stars) अब बॉलीवुड में भी नंबर 1 बनने जा रहा है, क्योंकि इंदौर में होने जा रहा है अंतर्राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार (International Indian Film Academy Awards) जिसे सारी दुनिया IIFA अवार्ड के नाम से जानती है। 27 से 29 मार्च को IIFA अवार्ड 2020 आयोजित किया जाएगा जो मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर शहर में आयोजित होगा। शहर में होने वाले इस अवार्ड समारोह की तैयारियां जोरों-शोरों से की जा रही हैं और अब इन तैयारियों में IIT इंदौर भी शामिल हो गया है। दरअसल हाल ही में इंदौर इंटरनेशन एयरपोर्ट की डायरेक्टर अर्यमा सान्याल (Aryama Sanyal) और IIT इंदौर के प्रोफ़ेसर व छात्रों के बीच एक बैठक आयोजित हुई थी। इस बैठक में शहर में होने वाले IIFA अवार्ड की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई। इस बैठक में तय किया गया कि इस समारोह में देश-दुनिया से आने वाले अतिथियों के सामने इंदौर (Indore) की इमेज को बेहतर तरीके से दर्शाने के लिए विशेष तकनीक पर आधारित रोबोट (Robots Will Wecome IIFA Stars) तैयार किए जाएं, जो एयरपोर्ट पर उनका स्वागत करने के लिए तैनात रहें। अब इंदौर एयरपोर्ट पर अतिथियों का स्वागत करने के लिए तीन तरह के रोबोट IIT इंदौर तैनात करेगा। इसमें एक रोबोट चेहरा देखकर व्यक्ति की पहचान करने में सक्षम होगा और फिर उससे संबंधित जानकारी देगा। दूसरी तकनीक पर आधारित रोबोट (Robots Will Wecome IIFA Stars) को एयरपोर्ट की सीढ़ियों पर तैनात किया जाएगा। जैसे ही कोई वयक्ति सीढ़ी पर पैर रखेगा वैसे ही यह रोबोट म्यूजिक सुनना शुरू कर देगा। IIT इंदौर एक और रोबोट तैयार करेगा जो एयरपोर्ट पर IIFA से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएगा। इस बैठक में IIT ने इन रोबोट्स को आगामी 15 मार्च तक एयरपोर्ट पर तैनात करने का लक्ष्य रखा है।

Fluxus @ IIT Indore में ज़ाकिर खान और सलीम -सुलैमान की स्टेज तोड़ परफॉरमेंस

IIT इन रोबोट को तैयार करने में जुट गया है और अब कुछ विशेष तकनीक पर आधारित उपकरण को तैयार करेगा। ये उपकरण तैयार हो जाने के बाद इन्हें रोबोट (Robots Will Wecome IIFA Stars) का रूप दिया जाएगा। इन उपकरणों को तैयार करने के लिए आईआईटी (IIT)  इनमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (Artificial Intelligence) , इंटरनेट ऑफ थिंक्स (IOT) और मशीन लर्निंग (Machine Learning) जैसी तकनीक का इस्तेमाल करेगा। इन रोबोट को तैयार करने के लिए IIT पूरी तरह से सक्रिय और गंभीर है ताकि मेहमानों के सामने शहर की छवि खराब न हो और उन पर शहर का अच्छा इम्प्रेशन बने। संस्थान के डायरेक्टर निलेश कुमार जैन (Director of the Institute Nilesh Kumar Jain) ने कहा कि हम शहर के विकास और उसे गति देने के लिए कार्य करना चाहते हैं। इस समारोह के लिए प्रशासन को जिस भी तरह की मदद की आवश्यकता होगी उसके लिए हम पूरी तरह से तैयार हैं।

Indore के धरमपुरी स्थित Power House में लगी भीषण आग

(Robots Will Wecome IIFA Stars) इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए आईआईटी इंदौर (IIT Indore) के सीनियर प्रोफेसर डॉ. संतोष कुमार विश्वकर्मा (Dr. Santosh Kumar Vishvakarma) ने कहा कि, संस्थान के पास विश्वस्तरीय लैब और उपकरण हैं। एयरपोर्ट की डायरेक्टर (Aryama Sanyal) के साथ हुई बैठक में IIT इंदौर ने कुछ आकर्षक प्रयोग करने की प्लानिंग साझा की थी, जिसमें से कुछ को तय कर लिया गया। बता दें कि रोबोट को तैयार करने का 60 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है बाकी का कार्य भी जल्द ही पूरा हो जाएगा।

Indore : मासूम और उसकी मां की ट्रेन की चपेट में आने से दर्दनाक मौत

Prabhat Jain

Share.