Video : इंदौर के बिल्डर कैलाश चंद्र गोयल के घर डकैती की बड़ी वारदात

0

इंदौर शहर के एक बड़े बिल्डर कैलाशचंद्र गोयल (Indore Builder Kailash Chandra Goyal) के घर लूट की सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया। इस वारदात के वक़्त बिल्डर के घर के बाहर दो सिक्योरिटी गार्ड तैनात थे। 5 नकाबपोश बदमाशों ने सबसे पहले सुरक्षाकर्मी से उसकी राइफल छीनी फिर उसका मोबाइल तोड़ दिया इसके बाद उन्हें कट्टा दिखाकर घर के अंदर ले गए। कट्टे की नोंक पर बदमाशों ने बिल्डर के घर एक बड़ी लूट की वारदात को अंजाम दिया और मौके से फरार हो गए। इस घटना का एक सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया जो देखते ही देखते वायरल हो गया। यह सीसीटीवी फुटेज उस वक़्त का है जब सुरक्षा गार्ड घर के बाहर तैनात थे और नकाबपोश बदमाशों ने धावा बोला।

महाराष्ट्र की राजनीति में पवार की कूटनीति से कैसे हारी मोदी-शाह की जोड़ी ?

यह वारदात लसूड़िया थाना क्षेत्र की कंचन विहार कॉलोनी (Kanchan Vihar Colony) की बताई जा रही है जहां मंगलवार रात को कुछ नकाबपोश बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। बुधवार को लसूड़िया पुलिस थाने (Lasudia Police Station) के अधिकारियों जानकारी दी कि बिल्डर कैलाशचंद्र गोयल (Kailash Chandra Goyal) के घर के बाहर तैनात दोनों सुरक्षा गार्ड राजकुमार मिश्रा और हरिकिशन मिश्रा को बदमाशों ने कट्टा दिखाकर बंधक बना लिया। इसके बाद उन्हें घर के अंदर ले जाया गया। यहां बदमाशों ने बिल्डर और उसके पूरे परिवार को बंधक बना लिया। जब बिल्डर के बेटों मुकेश और अंकेश ने बदमाशों को रोकने की कोशिश की तो बदमाशों ने दोनों के साथ मारपीट की।

नहीं मिला खरीददार, कर्ज में दबी एयर इंडिया बंद!

पुलिस के अनुसार बदमाशों ने बिल्डर के घर से  नोटों से भरा बैग, जेवरात और सोने के आभूषण लूट लिए। पुलिस के मुताबिक़ बदमाशों ने तकरीबन घर में रखी एक लाख से अधिक नगदी सहित सोने चांदी के जेवरात लुटे हैं। मिली जानकारी के अनुसार बदमाशों के बायपास के रास्ते भागने की जानकारी पुलिस को मिली। पुलिस ने बायपास पर तलाशी ली तो कुछ ही दूरी पर बिल्डर के परिवार के सदस्यों के मोबाइल फोन बरामद हुए। वहीं लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद भागते वक्त बदमाशों ने रास्ते में एक वाहन चालक को भी अपना शिकार बनाया। बदमाशों ने चालक से उसकी एक्टिवा छीनी और फरार हो गए।

पुलिस ने बिल्डर के घर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं और उसके आधार पर बदमाशों की पहचान की जा रही है। इस मामले में पुलिस की पोल भी खुल गई जब जांच के लिए पुलिस ने चौराहों पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। दरअसल इस दौरान स्कीम नंबर 136 के चौराहे पर लगे सीसीटीवी फुटेज बंद मिले। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही अपराधियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सावधान ! स्लीप मोड पर ना छोड़े लैपटॉप, बन जाएगा बम

Prabhat Jain

Share.