नेताओं को कोसने के बजाय, खुद को सुधारिए

0

आज तक देश में हम सभी सिर्फ नेताओं को कोसते आए हैं, यदि हम कुछ गलत करते हैं तो सही है, लेकिन कोई नेता वही काम करें तो गलत लगता है, इसी बात को हमें समझने की जरुरत है| आज देश में नेताओं की सोच बदलने की बजाय हमें खुद की सोच को बदलना होगा| ये बातें पाटीदार आन्दोलन के जरिये देश में चर्चा में आए और वर्तमान में किसान क्रांति सेना के अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने कही|

उन्होंने कहा कि आज देश को अच्छे नेताओं की जरुरत है लेकिन इसके लिए सभी को आगे आना होगा| उन्होंने कहा कि देश में जितने भी मुद्दे हैं, वे नागरिकों की ही देन हैं| इसके लिए किसी एक को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता| उन्होंने नेताओं के राजनीति करने के तरीकों में भी बदलाव की बात कही|

हार्दिक ने जहां एक और अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा तो वहीँ राहुल गांधी को भी आड़े हाथों लिया| उन्होंने कहा कि देश नरेंद्र मोदी के बाद भी चलता रहेगा, वहीँ राहुल गांधी भी अपने तरीके को बदलकर राजनीति में आगे आ सकते हैं|

आरएसएस से चलता है देश

हार्दिक ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे, तो आडवाणी हिंदुत्व की बात करते थे| इसके बाद जब आडवाणीजी ने भाजपा मे अटलजी का पद लिया, तो गुजरात में नरेंद्र मोदी इस तरह की बातें करते थे| अब जब देश में नरेंद्र मोदी  प्रधानमंत्री हैं तो वे आपसी सद्भाव की बातें करते हैं और उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ हिंदुत्व का नारा देते हैं| ये सिलसिला इसी तरह चलता रहेगा| और इस पूरे तंत्र को नागपुर में बैठी एक संस्था चला रही है| वह है आरएसएस|

राहुल बदलें अपना ढंग

राहुल गांधी को नसीहत देते हुए हार्दिक ने कहा कि राहुल गांधी अगर चाहे तो, वे राजनीति में आगे आ सकते हैं| उन्हें अपने कुरते की बाहों को सीधा करने के बजाय, उसे व्यवस्थित कर लेना चाहिए और राजनीति पर ध्यान देना चाहिए|

आप भी चाहें तो अपने नेताओं से बात करें

हार्दिक पटेल ने कहा कि जिन नेताओं को मेरी बात बुरी लगी हो, वे अपने नेताओं से इसकी शिकायत कर सकते हैं, और जिन्हें मेरी बात अच्छी लगी हो, वे अपने नेताओं से फिर भी बात कर सकते हैं| उन्होंने कहा कि बदलाव होना चाहिए और इसे हमें ही शुरू करना पड़ेगा|

Share.