प्रेस क्लब ने किया मेधावी बच्चों का सम्मान

0

बच्चों में असीमित क्षमता और ऊर्जा होती है। उनकी अभिरुचियों को पहचानने का काम अभिभावक और शिक्षक से बेहतर कोई नहीं कर सकता है। ये दोनों वर्ग बच्चों के सर्वांगीण विकास में महती भूमिका अदा करते हैं। बदलते परिवेश और तकनीक के कारण करियर के क्षेत्र में असीमित वृद्धि हुई है। आज डॉक्टर, इंजीनियर और सिविल सेवा के अलावा भी कई क्षेत्रों में बच्चे भविष्य बना सकते हैं। यह बात डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने इंदौर प्रेस क्लब द्वारा मीडियाकर्मियों के मेधावी बच्चों के सम्मान समारोह ‘काबिलियत को सलाम’ में कही|

उन्होंने कहा कि बच्चे अपने मन से इस धारणा को निकाल दें कि हमारे परिवार से कोई महान या प्रतिभाशाली कलाकार या खिलाड़ी नहीं बना तो हम कैसे बन सकते हैं? बच्चे इसके लिए प्रयास करना ही छोड़ देते हैं, जबकि ऐसा नहीं है। आइंस्टीन को शिक्षकों ने मंदबुद्धि बालक बताया था, लेकिन परिवार ने उसकी रुचियों को पहचाना और बाद में यही आइंस्टीन दुनिया के सबसे बड़े वैज्ञानिक और सर्वाधिक आईक्यू वाले व्यक्ति बने।

इंदौर प्रेस क्लब में रविवार को आयोजित समारोह में मीडियाकर्मियों के कक्षा 5वीं से 12वीं तक के बच्चों का सम्मान किया गया। इन बच्चों ने वर्ष 2017-18 की वार्षिक परीक्षा में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की थी। प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले इस समारोह में कुल 60 बच्चों का सम्मान प्रेस क्लब की ओर से किया गया।

स्वागत भाषण देते हुए प्रेस क्लब अध्यक्ष अरविंद तिवारी ने कहा कि आज प्रतिस्पर्धा का दौर है और ऐसे में चुनौतियां भी बहुत हैं, जिन्हें पूरा करने के लिए ज्यादा से ज्यादा मेहनत की जरूरत है। तकनीकी दौर में अधिक से अधिक नॉलेज प्राप्त करें, तभी उनके और परिवार के सपने पूरे हो पाएंगे।

अतिथियों का स्वागत प्रेस क्लब महासचिव नवनीत शुक्ला, सचिव हेमन्त शर्मा, कोषाध्यक्ष दीपक कर्दम ने किया। संचालन प्रदीप जोशी ने किया| आभार प्रेस क्लब महासचिव नवनीत शुक्ला ने माना।

Share.