इंदौर में नकली पुलिस बनकर ठगी करने वालों को पुलिस ने दबोचा

0

इंदौर (Indore) में नकली पुलिस बनकर एक व्यक्ति (Fake Police In Indore) को धमकाने का मामला सामने आया है। फरयादी जंजीरावाला चैराहा (Zanjirawala square) पर एक एजुकेशन सेंटर (education center) का संचालन करता है, जहां सेबी और पुलिस अफसर बनकर चार बदमाश पहुंचे और संचालक से एक लाख रुपए मांगे। पुलिस (police) गिरफ्त में खड़े ये बदमाश कोई छोटे-मोटे अपराधी नहीं बल्कि बेहद ही शातिर बदमाश हैं। बदमाशों ने पुलिस (police) का रौब दिखाते हुए संचालक वैभव शर्मा (Vaibhav Sharma) को धमकाया और फर्जी एडवाइजरी कंपनी (fraud advisory company) चलाने की बात कही। संचालक ने रुपए नहीं होने की बात कही तो आरोपी उससे 500 रुपए ले गए और अगले दिन आने की बात कही। (Fake Police In Indore) इसके बाद फरयादी ने डीआईजी (DIG) से मामले की शिकायत की तो पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार होने के बाद दोनों आरोपियों ने कहा कि वे एक एनजीओ का संचालन करते हैं और उनके पिता पुलिस में हैं। वे ऐसी संस्थाओं की जांच करते हैं।

Hyderabad Police Press Conference : कमिश्नर सज्जनार ने बताई एनकाउंटर की सच्चाई

तुकोगंज टीआई (Tukoganj T.I) निर्मल श्रीवास (Nirmal Shriwas) के अनुसार, वैभव शर्मा (Vaibhav Sharma) को तीन बदमाशों ने सेबी अफसर (Fake Police In Indore) और एक ने हीरा नगर का पुलिसकर्मी बताया। वैभव और उनकी नवविवाहिता पत्नी को धमकाया कि केस दर्ज कर अंदर कर देंगे। सेटलमेंट के लिए अगले दिन आने का बोलकर 500 रु. ले गए। वैभव (Vaibhav Sharma) ने पुलिस (Police), सेबी में जानकारी ली तो पता चला इस नाम के कोई अफसर नहीं हैं। गुरुवार को डीआईजी (DIG) को शिकायत की। शाम को पुलिस (Fake Police In Indore) ने जाल बिछाकर आरोपी राहुल (Rahul) और शुभम (Shubham) को पैसे लेने बुलाया और पकड़ लिया।

Salute to Police: इन संदेशों से आप भी करें पुलिस को सलाम

गिरफ्तारी के बाद आरोपी लगातार पुलिस (Fake Police In Indore) को बरगलाते रहे और धमकाने व पैसे मांगने की बात से इनकार करते रहे। गिरफ्तार हुए आरोपियों में से एक पहले सेबी का अस्थाई कर्मचारी भी रह चुका है, इसके चलते संदेह जताया जा रहा है कि यही आरोपी ने सेबी की गोपनीय जानकारियां निकालकर अन्य लोगों से भी वसूली की होगी। वहीं शहर में कई और भी ऐसे गिरोह सक्रीय हैं, जो कि खुद को पत्रकार बताकर एडवायजरी संचालकों (Advisory operators) से पैसे की मांग करते हैं। नकली पुलिस (Fake Police In Indore) बनकर ठगी के मामले इंदौर (Indore) में लगातार सामने आ रहे हैं और इसी के चलते पुलिस भी इस तरह के मामलों को बेहद गंभीरता से ले रही है।

Hyderabad Police Rapist Encounter Video : सीन रिक्रिएट, हमला और एंकाउंटर का जानिए पूरा घटनाक्रम

– Rahul Tiwari

Share.