website counter widget

पटवारी की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तारी

0

मध्यप्रदेश के इंदौर में लोकायुक्त की टीम लगातार कई भ्रष्टाचारियों के काले चिट्ठे उजागर कर चुकी है| एक के बाद एक ऐसे लोगों के कारनामों के खुलासे हो रहे हैं, जिनके पास से आय से अधिक की संपत्ति जब्त की गई है| अब लोकायुक्त पुलिस ने एक पटवारी के घर छापा मारा| लोकायुक्त की टीम ने पटवारी पर (Patwari Narayan Patidar ) कई दिनों से नज़र रखी थी , उनके कारनामों के बारे में जानकारियां जुटाई, जिसके बाद कार्रवाई की|

इंदौर में दिखा मोदी के प्रति दीवानगी का नज़ारा

दरअसल,  इंदौर की लोकायुक्त की टीम ने सोमवार को एक बड़ी कार्रवाई करते हुए पटवारी नारायण पाटीदार (Patwari Narayan Patidar ) को रंगेहाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। आरोपी ने फरियादी से नामांतरण के नाम पर 24 हजार रुपए की मांग की थी, जिसकी शिकायत फरियादी ने लोकायुक्त से की थी। पुलिस के कहने पर वह पहली किश्त 10 हजार रुपए लेकर उसके पास पहुंचा था, जहां टीम ने उसे रंगेहाथ पकड़ लिया।

Ramesh Mendola ने ट्विटर पर अनूठे तरीके से Congress पर तंज कसा

मिली जानकारी अनुसार अमोदिया दलपुरा के पटवारी नारायण पाटीदार (Patwari Narayan Patidar ) फरियादी राकेश परवार निवासी दलपुरा राजगढ़ से पिता-पुत्र के बीच आपसी बंटवारे के बाद नामांतरण के लिए 24000 रुपए की रिश्वत मांग रहा था। पटवारी द्वारा बिना रिश्वत के काम नहीं करने पर उसने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को कर दी। टीम ने जांच के बाद सोमवार सुबह फरियादी को पहली किश्त के रूप में दस हजार रुपए पटवारी को देने के लिए भेजा।

फर्जी कंपनी Ways2Capital का किया SEBI ने लाइसेंस निरस्त

जैसे ही फरियादी ने पटवारी (Patwari Narayan Patidar ) को रुपए दिए। पहले से मौजूद टीम ने उसे रंगेहाथ पकड़ लिया। टीम को देख पटवारी के होश उड़ गए। उप पुलिस अधीक्षक प्रवीण सिंह बघेल के ने नेतृत्व में  टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया।

अप्रैल में भी एक ऐसी ही कार्रवाई की गई थी, जब इंदौर (Indore News) की लोकायुक्त पुलिस के दल ने मंगलवार को एक लेखापाल को एक रिटायर शिक्षक से 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया था । तब इंदौर के लोकायुक्त एसपी एसएस सराफ ने बताया था कि धार जिले के ग्राम बगड़ी के रहने वाले आवेदक सेवानिवृत्त शिक्षक कमल किशोर सोनी ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि महू के कोदरिया के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के लेखापाल द्वारा उनसे 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी (Indore Lokayukta Police Takes 50000 Bribe From Retired Teacher) जा रही है| वे इतनी बड़ी राशि देने में असमर्थ हैं|

इसके बाद आरोपी को 50 हजार रुपए की रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया था । जैसे ही लेखापाल ( के हाथ धुलवाए थे , वे गुलाबी हो गए। पुलिस ने आरोपी लेखापाल के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था ।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.