प्रधानमंत्री की रैली के लिए नहीं देंगे बस

0

मध्यप्रदेश में 23 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो बड़ी सभाएं होने वाली हैं| प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग और भाजपा के कार्यकर्ता शामिल होंगे, लेकिन इनके परिवहन के लिए अब संकट पैदा हो गया है| प्रधानमंत्री की सभा के लिए बसें देने से बस संचालक एसोसिएशन ने इनकार कर दिया है|

संचालकों ने साफ़ शब्दों में प्रधानमंत्री की सभा के लिए राज्य शासन को ना कर दी है और इसका कारण वह भुगतान है, जो पिछले कार्यक्रमों के बदले संगठन को आज तक नहीं मिला है| एसोसिएशन का कहना है कि अभी तक इंदौर संभाग में करीब 1 करोड़ 29 लाख रुपए का भुगतान शेष है, जो प्रशासन ने दिया ही नहीं|

प्रदेश में बीते 3 सालों में कई बड़ी सभाएं हुई हैं, जिनमें प्रशासन ने बसों को भेजा था, लेकिन उन कार्यक्रमों का भुगतान अभी भी नहीं हो पाया है| बस संचालकों को केवल 65 से 70 प्रतिशत ही भुगतान हुआ है|

आरटीओ नहीं देता है जानकारी

एसोसिएशन ने इस तरह के आयोजन को लेकर सरकारी विभाग से समन्वय नहीं होने देने की बात भी कही| प्राइम रूट बस ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविन्द शर्मा ने बताया कि अभी तक आरटीओ ने इन बसों के अधिग्रहण को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है| जब बसें देने से इनकार किया जाता है तो आरटीओ बसों के परमिट निरस्त करने की धमकी देकर संचालकों पर दबाव बनाते हैं|

इनका कहना है….

अभी भी बस एसोसिएशन को प्रशासन ने झाबुआ में हुई प्रधानमंत्री की रैली का, उज्जैन में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का, जम्बूरी मैदान भोपाल का और इंदौर नगर निगम के आयोजनों का भुगतान नहीं किया है| ऐसे में एसोसिएशन प्रशासन से उचित मदद की मांग कर रही है|

गोविन्द शर्मा, अध्यक्ष, प्राइम रूट बस ऑनर एसो.

शासन के सभी कार्यक्रमों के लिए बस संचालकों को भुगतान किया जाता है, यदि संचालकों की भुगतान को लेकर शिकायतें हैं तो उन्हें भी जल्द ही दूर किया जाएगा|

निशांत वरवड़े, कलेक्टर इंदौर

Share.