नेशनल होम्योपैथी सेमिनार में मरीज़ों ने सुनाया अपना अनुभव

0

इंदौर – होम्योपैथी इंसान के व्यवहार, (National Homeopathy Seminar) उसकी सोच, आसपास के वातावरण और उनके साथ मरीज़ के संबंध को पहले समझता है, तत्पश्चात उसका उपचार करता है। इसीलिए आज होम्योपैथी दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाली चिकित्सा पद्धति है। ये कहना था मुंबई से पधारे डॉ. गौरांग गायकवाड़ का, जो शिक्षा होम्योपैथिक अकादमी द्वारा आयोजित (National Homeopathy Seminar) में देश के 300 से ज्यादा डॉक्टर्स को होम्योपैथी की जानकारी दे रहे थे।

होम्योपैथी के जरिये यातायात पुलिस को गर्मी से राहत देने की सराहनीय पहल

(National Homeopathy Seminar) डॉ. गौरांग ने अपने द्वारा ठीक किए गए जानलेवा रोगों के बारे में पावर प्रेजेंटेशन के जरिए लोगों को जानकारी दी। इस नेशनल होम्योपैथी सेमीनार के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. वैभव जैन ने बताया कि शिक्षा होम्योपैथी अकादमी द्वारा समय-समय पर होम्योपैथी दवा का वितरण, बीमारियों की जानकारी, स्वच्छता जागरूकता अभियान के साथ-साथ होम्योपैथी के विश्वप्रसिद्ध चिकित्सकों के नेशनल सेमीनार का आयोजन किया जाता है। इसी कड़ी में होम्योपैथी के युवा विशेषज्ञ डॉ. गौरांग गायकवाड़ द्वारा देशभर से आये 300 से ज्यादा होम्योपैथिक डॉक्टर्स को संबोधित किया गया साथ ही होम्योपैथी चिकित्सा विज्ञान के रहस्यों से अवगत भी कराया गया।

NHM MP Recruitment 2019 : राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश में भर्तियाँ

“जागों” अभियान का शंखनाद

होम्योपैथी (National Homeopathy )एक ऐसी चिकित्सा पद्धति है जो 200 सालों से ज्यादा समय से लोगों को फायदा पहुंचा रही है। एक ऐसी चिकित्सा प्रणाली जिसमें कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं।और विश्व में दूसरी सबसे ज्यादा उपयोग में लाई जाने वाली चिकित्सा पद्धति है। लेकिन इन सब के बावजूद भारत में होम्योपैथी को लेकर आम जनमानस के मन में कुछ भ्रम है, जैसे होम्योपैथी धीमी चिकित्सा है, रोज़मर्रा की बीमारी में अनुपयोगी है। इन सब गलत अवधारणाओं को दूर करने के लिए और हर व्यक्ति तक होम्योपैथी का फायदा पहुंचाने के लिए होम्योपैथिक जनजागरण कार्यक्रम “जागों” का आयोजन किया गया, जो आम जनता के लिए रखा गया था। इस कर्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में इंदौर एयरपोर्ट की डायरेक्टर श्रीमती अर्यमा सान्याल, ट्रैफ़िक DSP उमाकांत चौधरी, जन स्वास्थ्य अभियान के प्रमुख श्री अमूल्य निधि, गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने वाले कलाकार वाज़िद खान, टैलेंटेड इंडिया न्यूज़ के मार्केटिंग हेड गौरव गांधी आदि मौजूद रहे।

इस जागो अभियान के माध्यम से शिक्षा होम्योपैथिक अकादमी के डॉक्टर सदस्यों द्वारा पावर प्रेजेंटेशन के माध्यम से अनेक जटिल रोगों का होम्योपैथी द्वारा समाधान करने की जानकारी बताई गई, साथ ही होम्योपैथी से नया जीवन पाने वाले मरीजों ने भी अपने अनुभव साझा किए। इस अवसर पर मुख्य अतिथि अर्यमा सान्याल ने बताया कि आज के समय में होम्योपैथी एक ऐसी चिकित्सा है जिसमें अगर फायदा ना भी हो तो कम से कम नुकसान तो नहीं होता। DSP उमाकांत चौधरी (DSP Umakant Choudhary) ने कहा कि होम्योपैथी रोग को जड़ से खत्म करती है यही कारण है कि जो एक बार इस चिकित्सा से जुड़ता है फिर इस पर ही विश्वास करता है।

ज़ीरो वेस्टेज पर आधारित

शिक्षा होम्योपैथी के ये दोनों कार्यक्रम ज़ीरो वेस्टेज पर आधारित थे,(National Homeopathy Seminar) जिसमें प्लास्टिक का जरा भी उपयोग नहीं किया गया। कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी अतिथियों को भी कुल्हड़ में पौधे प्रदान किये गए। कुल-मिलाकर शिक्षा की इस पहल ने आम लोगों को होम्योपैथी के बारे में शिक्षित और जागरूक किया है।

Indore News : देश का सबसे बड़ा होम्योपैथी सेमिनार इंदौर में

Prabhat Jain

Share.