Lok Sabha Election 2019 : सुमित्रा ताई की जगह इंदौर से नए नाम की तलाश 

0

इंदौर से लगातार आठ बार सांसद रह चुकीं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) को लगता है इस बार लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में टिकट नहीं मिल पाएगा (Get Ticket From Indore Not Easy For Sumitra Mahajan)| इस बार उनका सत्ता का स्वाद चखने का सपना अधूरा ही रह जाएगा| दरअसल, लालकृष्ण आडवाणी का टिकट काटने के बाद अब भाजपा में फार्मूला 75 ( पचहत्तर वर्ष) से अधिक उम्र के व्यक्ति को टिकट नहीं दिए जाने) का नियम सख्ती के साथ लागू हो गया है। आरएसएस भी इससे सहमत है। इस कारण इस बात में अब कोई भी संशय नहीं है कि भाजपा 75 साल से अधिक के किसी व्यक्ति को लोकसभा का टिकट दे। 

Indore News : पार्षद के समर्थन में उतरीं नेता प्रतिपक्ष

Image result for sumitra mahajan

इस बार के चुनाव में भी जीत की उम्मीद से लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने दो महीने पहले से ही अपना चुनावी अभियान शुरू कर दिया है परन्तु इंदौर (Indore News) में पहली बार सुमित्रा महाजन का खुला विरोध नज़र आ रहा है। कार्यकर्ताओं का एक वर्ग स्पष्ट रूप से कह रहा है कि यदि इस बार भी ताई का टिकट दिया तो वे पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं करेंगे। विरोधियों को सुमित्रा महाजन हमेशा अपनी बातों से प्रभावित कर मना लेती हैं| परन्तु इस बार बड़ा सवाल यह है कि जब उनके विरोधी भारी संख्या में हैं तो वे उन्हें कैसे मना पाएंगी|

Indore News : विश्व में बिखरेंगे इंदौर की गेर के रंग

Image result for sumitra mahajan in home

कहा जाता है कि इंदौर में सुमित्रा महाजन के कारण भाजपा 4 सीटें हार गईं, जिससे कार्यकर्ता काफी आक्रोशित थे| सुमित्रा महाजन ने सुदर्शन गुप्ता, मनोज पटेल देपालपुर,  मधु वर्मा और राजेश सोनकर सांवेर को टिकट दिलाए थे। ताई द्वारा चुने गए ये सभी प्रत्याशी चुनाव हार गए।  भाजपा के ताई विरोधी नेताओं और कार्यकर्ताओं का कहना है कि यदि इनकी जगह किन्हीं अन्य लोगों को टिकट दिया जाता तो भाजपा जीत सकती थी|  कार्यकर्ताओं ने यह आरोप भी लगाया कि ताई ने कांग्रेस के जीतू पटवारी की जीत को सुनिश्चित करते के लिए मधु वर्मा को टिकट दिलाया जबकि राऊ से भाजपा के पास कुछ दमदार नाम भी थे।

जानें सुमित्रा महाजन के बारे में (Get Ticket From Indore Not Easy For Sumitra Mahajan)

Image result for sumitra mahajan

महाराष्ट्र के चिपलूण में 12 अप्रैल 1943 को जन्मी सुमित्रा के पिता संघ के प्रचारक थे। महाराष्ट्र के रत्नागिरि जिले के चिपलूण में एक साधारण से परिवार में जन्मी सुमित्रा महाजन 22 वर्ष की उम्र में बहू बनकर इंदौर आई थीं। उनके दो बेटे मिलिंद और मंदार हैं। मिलिंद आईटी प्रोफेशनल के साथ व्यवसाय भी करते हैं, वहीं मंदार कमर्शियल पायलट हैं, जिन्हें ताई ने अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी बना दिया है। अब देखना है कि वे स्वयं ही मैदान से पीछे हट जाएंगी या पार्टी को लालकृष्ण आडवाणी की तरह उनका भी टिकट काटना पड़ेगा।

Indore News : पार्षद के समर्थन में उतरीं नेता प्रतिपक्ष

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.