कमलनाथ 16 सितंबर को करेंगे धर्मगुरु से मुलाक़ात

0

बोहरा समाज के धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल सैफुद्दीन मौला का इंदौर आने का कार्यक्रम 5 सितंबर के आसपास का है | सैयदना साहब इस बार लंबे समय के लिए इंदौर प्रवास पर आ रहे हैं| इस दौरान उनसे अनेक विशिष्टजन मुलाकात करेंगे| इस बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का सैयदना साहब से मुलाकात का कार्यक्रम तय हो गया है| हालांकि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की भेंट की तारीख अभी तक तय नहीं हुई है | सैयदना साहब से प्रदेशभर के अन्य विशिष्टजन भी मुलाकात करेंगे, जिनकी लिस्टिंग का काम जारी है|

धर्मगुरु सैयदना साहब के बहाने

बोहरा समाज के धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल सैफुद्दीन मौला का इंदौर दौरा इस बार ऐसे समय हो रहा है, जब मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव का माहौल भीतर ही भीतर बन रहा है| कांग्रेस और भाजपा के नेता उन सभी मतदाताओं तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं, जो आगामी चुनाव में दोनों दलों की भंवर में फंसी कश्ती को किनारा देंगे| ऐसे में इस बार की सैयदना साहब से होने वाली मुलाक़ात राजनीतिक दृष्टिकोण से ख़ास मानी जा रही है|

इंदौर में 25 तो प्रदेश में है 50 हज़ार मतदाता

बोहरा समाज के मतदाताओं की संख्या मध्यप्रदेश में करीब 50 हजार आंकी जाती है, जबकि अकेले इंदौर में यह संख्या 25 हजार है| इंदौर में 5 हजार 200 परिवार निवासरत हैं| देशभर में यह संख्या 5 लाख के करीब है|

भाजपा-कांग्रेस के नेता मिलने को आतुर

सैयदना साहब की इंदौर यात्रा की तैयारियां जोरों पर है | यह तैयारियां अलग-अलग स्तर पर की जा रही है| इस बीच धर्मगुरु से मिलने के लिए भाजपा- कांग्रेस के नेता आतुर हैं| प्रदेश के मुख्यमंत्री भी उनसे मिलने आएंगे| आमंत्रण-पत्र पहुंच चुका है और उन्होंने आने का वादा किया है| मुख्यमंत्री ने कहा है कि वे शुरुआत में आएंगे या फिर उनकी कही बातें सुनने ज़रूर पहुंचेंगे| इनके अलावा सैयदना साहब से मिलने के लिए लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और महापौर मालिनी गौड़ को भी निमंत्रण भेजा गया है |

बनाया गया था 80 फीट लंबा रेंप

बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु डॉ. सैयदना आलीकदर मुफद्दल मौला पिछली बार संक्षिप्त प्रवास पर इंदौर आए थे, उज्जैन में हुए कार्यक्रम के पूर्व सैयदना साहब के लिए सुपर कॉरिडोर पर खुले मैदान में मंच के साथ ही 80 फीट लंबा रेंप भी बनाया गया है, जहां से सभी समाज बंधुओं ने सैयदना साहब के दीदार किए थे|

Share.