Indore News : राजनीतिक दबाव में न आते हुए निभाया फ़र्ज

0

हर समय यह कहा जाता है कि दुनिया में बेईमान लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं, ईमानदारी लगभग ख़त्म हो चुकी है और हर तरफ़ भ्रष्टाचार का बोलबाला है| हर व्यक्ति नेताओं और रसूखदारों के लिए काम कर रहा है, लेकिन इन सबसे अलग दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो कभी भी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करते हैं|रसूखदार और नेता उनके लिए मायने नहीं रखते हैं, उनके लिए अपना फर्ज ही महत्वपूर्ण होता है| ऐसे ही एक शख्स हैं इंदौर (Indore News) के ट्रैफिक सूबेदार अरुण सिंह (Indore Traffic Subedar Arun Singh)|  

Indore News : प्रस्तावित शेड्यूल से बंधी सभी उम्मीदें टूटी

इन दिनों राजबाड़ा पर तैनात ट्रैफिक सूबेदार का 2 मिनट 34 सेकंड का एक वीडियो (Indore Traffic Subedar Arun Singh Video ) सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसमें वे बिना किसी राजनीतिक दबाव में आकर ईमानदारी से अपनी ड्यूटी निभाने की बात कह रहे हैं। सूबेदार का कहना था कि उन्होंने चलती बाइक पर मोबाइल से बात कर रहे नीलेश जैन को रोका तो वे और उनके साथी अखिलेश जैन (गोपी) नेताओं की धौंस देने लगे। इसके बाद उन्होंने मुंशी से यह वीडियो बनवाया।

अपने इस वीडियो में ट्रैफिक सूबेदार अरुण सिंह (Indore Traffic Subedar Arun Singh Video ) क्या कहा, वह हम आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहे हैं|

Indore News : स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार

उन्होंने कहा, “ हमने इन्हें मोबाइल पर बात करते हुए रोका तो इन्होंने हमें पूर्व विधायक अश्विन जोशी का भानजा बताया और उनसे बात करने को कहा। हम व्यस्तता के कारण हर इनसान से बात नहीं कर सकते। ये नियम नहीं है कि फंसे हैं तो बात करें। ये बोल रहे हैं कि कांग्रेस का राज है। आपको ये करना पड़ेगा। राजबाड़ा में आपको रहना है तो आपको यह बात माननी पड़ेगी। मैं सूबेदार अरुण सिंह थाना यातायात पश्चिम… मैं किसी की बात नहीं मानूंगा। कोई गलत मिला तो चालानी कार्रवाई बिलकुल करूंगा। चाहे आप बाला बच्चन की धमकी दें या किसी और की। ये अपने आप को कांग्रेस का बता रहे हैं और कह रहे हैं कि हमारा राज है और हमारी चलेगी। ये कह रहे हैं कि तुम्हारी वर्दी उतार दूंगा। मैं सब को बता रहा हूं जो भी इस वीडियो को देख रहे हैं या सुन रहे हैं, मैं बर्दाश्त नहीं करूंगा। मैं किसी शासन की नहीं सुनूंगा। मैं वर्दी पहने हूं। इसके पैसे मुझे शासन से मिलते हैं। सही कार्रवाई करूंगा।“ 

1000 लेकर 500 की रसीद दे रहे थे

ट्रैफिक सूबेदार अरुण सिंह के इस वीडियो (Indore Traffic Subedar Arun Singh Video ) के वायरल होने के बाद गोपी जैन का ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि मेरे मित्र नीलेश जैन मोबाइल पर बात करते हुए जा रहे थे। पुलिसकर्मी ने उन्हें रोका। एक हजार रुपए लेकर वे 500 रुपए की रसीद दे रहे थे। जब मुझे इसकी जानकारी मुझे मिली तो मैं पहुंचा और अपना परिचय दिया तो वे वीडियो बनाकर हम पर ही हावी होने लगे।

Indore News : धुलवाते ही लेखापाल के हाथ हो गए गुलाबी

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.