चार छात्रों ने इंदौर का सीना फिर गर्व से चौड़ा कर दिया

0

स्वच्छता के मामले में इंदौर लगातार तीन बार देश  में अव्वल स्थान हासिल कर चुका है | अब मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर का हर क्षेत्र में तेज़ी से विकास हो रहा है| फिल्म, शिक्षा, खेल, लेखन सहित हर क्षेत्र में इंदौर के निवासी सफलता का परचम लहरा रहे हैं| अब इंदौर के चार छात्रों ने इंदौर का सीना फिर गर्व से चौड़ा कर दिया है|दरअसल, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने सोमवार देर शाम जेईई मेन (JEE Main Result 2019) के परिणाम जारी किए। जेईई मेन में प्रदेश से करीब 50 हजार छात्रों ने हिस्सा लिया था। ऑल इंडिया रैंकिंग में टॉप 100  में इंदौर के 4 छात्र स्थान बनाने में कामयाब हुए हैं। ऑल इंडिया रैंकिंग में ध्रुव अरोरा (Indore Topper Dhruv Arora ) ने तीसरा स्थान हासिल किया है। आपको याद दिला दें कि ध्रुव पिछले दो  बार से प्रदेश के टॉपर रहे हैं, लेकिन वे फिर इस बार एग्जाम में बैठे और एक बार फिर रैंक हासिल की।

पहले प्रयास में 100 में से 100 

उनके अलावा (JEE Main Result 2019) तनय शर्मा को 32वीं रैंक, अक्षत गुप्ता को 83वीं रैंक और रोहित देशपांडे को 98वीं रैंक हासिल हुई है। मेन में सफल होने वाले ज्यादातर प्रतिभागी 27 मई को होने जा रही जेईई एडवांस में भी शामिल होंगे।इधर मिली जानकारी के अनुसार, वलाया रामचंदानी को गर्ल्स प्रदेश टॉपर बताया जा रहा है। वलाया की ऑल इंडिया रैंक 367वीं है।इंदौर के रहने वाले JEE Main 2019 Topper ध्रुव सोशल मीडिया और मोबाइल से पढ़ाई के दौरान दूर रहे। ध्रुव बताते हैं कि पढ़ाई के दौरान उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और मोबाइल से खुद को दूर कर लिया था। उन्होंने बताया कि इसकी जगह उन्होंने स्पोर्ट्स और दूसरी चीजों को दी। इससे न केवल उनका समय बचा बल्कि और उनका शरीर और दिमाग भी हेल्दी रहा।

JEE Mains Result : इंदौर के ध्रुव अरोरा बने टॉपर

बता दें कि इंदौर के ध्रुव (Indore Topper Dhruv Arora ) ने अपने पहले प्रयास में जनवरी में ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (jee main) में 100 पर्सेटाइल हासिल किया था। ध्रुव उस समय देश के उन 15 छात्रों में शामिल रहे थे, जिन्होंने इस परीक्षा में 100 परसेंटाइल हासिल किया था।उस समय भी टॉपर ध्रुव अरोड़ा ने बताया था, “मैं हमेशा फिक्स टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करता था। ध्यान से पढ़ना, टाइम मैनेजमेंट और पढ़ाई के घंटों के दौरान अनुशासन सक्सेस के लिए बहुत ज़रूरी है। मैं रोज 6-7 घंटे पढ़ाई करता था। “ ध्रुव के पिता मुकेश अरोरा फार्मा कंपनी में कार्यरत हैं। ध्रुव द्वारा फिर हासिल की गई इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें बधाई दी है।इससे पहले JEE Mains की परीक्षा 8 से 12 जनवरी 2019 के बीच आयोजित की गई थी। पहली बार 12 दिनों के अंदर रिजल्ट जारी हुआ था। तब यह परीक्षा देशभर के 258 शहरों में आयोजित की गई थी। तब JEE Mains परीक्षा के पेपर-1 के लिए 9,29,198 उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। तब परीक्षा में 8 लाख 74 हजार से अधिक विद्यार्थी शामिल हुए थे।

भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.