website counter widget

इंदौर : सहायक आबकारी आयुक्त के ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा

0

INDORE : इंदौर में लोकायुक्त पुलिस की टीम ने आज यानि मंगलवार को अल सुबह सहायक आबकारी आयुक्त आलोक कुमार खरे के कई ठिकानों पर एक साथ चहपामार कार्रवाई की। खरे के इंदौर के पाँच ठिकानों सहित रायसेन, छतरपुर में स्थित ठिकानों पर भी कार्रवाई की गई। भोपाल लोकायुक्त के निर्देश पर हो रही इस कार्रवाई में छतरपुर में आलोक खरे के पिता लालजी के आवास की तलाशी ली जा रही है।

कांग्रेस के डूबते जहाज को देखकर भाग गए राहुल गांधी

बताया जा रहा है कि इंदौर के ग्रेंड एक्सओटिका के साथ एक अन्य स्थान पर जब पुलिस पहुंची तब उन्हें घर बंद मिला। अधिकारी आलोक कुमार खरे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला सामने आया है। उनके बारे में कई बार शिकायत मिल चुकी है। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद यह कार्रवाई की गई। जांच में यह बात सामने आई है कि खरे अपनी पत्नी के नाम से ही टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे थे, उनकी पत्नी रायसेन में फलों की खेती करती है। लोकायुक्त पुलिस की 19 लोगों कि टीम वहाँ भी पहुँच गई है। जहां जांच में सामने आया है कि खरे ने अपनी पत्नी के नाम करोड़ों की संपत्ति दर्ज करवा रखी है।

PMC बैंक घोटाले में पीड़ित खाताधारक को दिल का दौरा

अरबपति निकला खरे

जांच में आलोक कुमार खरे की अब तक 150 करोड़ से ज्यादा की बेनामी संपत्ति का खुलासा हो चुका है। इसी के साथ कई शहरों में उसकी 21 से ज्यादा प्रॉपर्टी भी जब्त की गई हैं, जिनमें कई आलीशान बंगले, दर्जनों जगह ज़मीन, लग्जरी गाड़ियां, सोने-चांदी के ज़ेवरात मिले। यह भी पता चला कि उसने ऑफिस में खुद के बैठने के लिए 85 हजार की कुर्सी मंगवाई थीं। खरे जून 2018 से इंदौर में पदस्थ हैं. इससे पहले वो 2014 से 2018 तक भोपाल में रह रहा था। वह नौकरी के दौरान ज़्यादातर समय मालवा निमाड़ इलाके में ही निकाला.वो खरगोन,रतलाम,धार और इंदौर जिलों में रहता था।

बेहद सस्ती हो जाएगी ऑटो से लेकर हवाई यात्रा

  – Ranjita Pathare

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.