इंदौर में दरिंदों को प्रतीकात्मक फांसी

0

मध्यप्रदेश के मंदसौर में बच्ची के साथ हुई दरिंदगी के बाद देश में कई लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे हैं| घटना के विरोध में कई लोग सड़क पर उतरकर मांग कर रहे हैं कि दरिंदों को ऐसी सज़ा दी जाए, जिससे धरती-आकाश तक कांप उठे| इस मामले में सोमवार को स्कूली बच्चे भी सड़क पर पीड़ित बच्ची के लिए न्याय मांगते दिखे| दोनों आरोपियों की फोटो को सरेआम सूली पर भी लटकाया गया|

बाणगंगा क्षेत्र के कुशवाह नगर में कई निजी स्कूल के बच्चे सड़क पर दिखे और एक स्वर में दोषियों को फांसी देने की मांग की| इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व पार्षद केके यादव ने भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि महिलाओं और बेटियों पर होने वाले अत्याचारों के लिए प्रदेश की भाजपा सरकार जिम्मेदार है क्योंकि प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था का जिम्मा भाजपा के हाथों में है|

सरेआम आरोपी इरफ़ान और आसिफ को प्रतीकात्मक फांसी दी गई| बच्चों ने सड़क पर मानव श्रृंखला बनाई और विरोध किया| गौरतलब है कि इस घटना के मुख्य आरोपी इरफ़ान उर्फ़ भय्यू की आज रिमांड ख़त्म हो गई थी, जिसके बाद उसे आज स्थानीय अदालत में पेश किया गया| स्थानीय अदालत ने आरोपी इरफान की रिमांड तीन दिन के लिए बढ़ा दी है।पुलिस को अभी भी झाड़ू बनाने वाले तीसरे आरोपी की तलाश है|

एमवाय अस्पताल में भर्ती पीड़ित बच्ची की हालत में लगातार सुधार हो रहा है| सोमवार को आईसीयू में बच्ची कुछ कदम चली| जल्द ही उसे प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा|

Share.