Indore Eye Hospital : इंदौर आई हॉस्पिटल के डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई

0

स्वछता में तीन बार नंबर वन का खिताब अपने नाम करने वाला इंदौर (INDORE) शहर कुछ जल्लाद डॉक्टरों के कारण बदनाम होते जा रहा है। अब उन्हीं जल्लादों को कड़ी सज़ा मिलने वाली है। इंदौर आई हॉस्पिटल (Indore Eye Hospital) में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के दौरान 15 मरीजों की आँखों की रोशनी चली गई थी। इस मामले पर कई मरीज न्याय की गुहार लगाते हुए भटक रहे थे। अब मामले में चार डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

अमरीकी सांसद ने कहा चुप रहो इमरान खान!

जानकारी के अनुसार, आज यानि गुरुवार को सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया ने लापरवाह डॉक्टरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की जानकारी दी। डॉ सुधीर महाशब्दे, डॉ. सुहास बंडे, डॉ. अनुसुईया चौहान और डॉ. वनिंदर कौर के खिलाफ कार्रवाई की गई है। यह मामला सामने आने के बाद प्रशासन ने जांच समिति का गठन किया था, जिसकी रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की गई है। प्रदेश सरकार द्वारा गठित कमेटी 30 अगस्त को अपनी रिपोर्ट सरकार को देगी। इस मामले में पीड़ित 5 मरीजों को उपचार के लिए चेन्नई भेजा गया था तथा अन्य मरीजों का उपचार इंदौर में ही किया जा रहा है।

पाक की ‘गजनवी’ को ऐसे रोकेगा हिंदुस्तान

इंदौर आई हॉस्पिटल (Indore Eye Hospital) में 8 अगस्त को मोतियाबिंद के ऑपरेशन शिविर के दौरान 14 में से 11 केस बिगड़ गए थे और यह मामला 17 अगस्त को सामने आया था। वहीं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल से आई एक टीम मंगलवार को इंदौर आई अस्पताल पहुंची थी। टीम ने अस्पताल का रिकॉर्ड देखा, मरीजों की सुरक्षा के इंतजाम, ऑपरेशन थिएटर की सफाई, उपकरणों की जांच रिपोर्ट देखकर अन्य व्यवस्थाओं की जांच की थी। लगभग तीन घंटे टीम अस्पताल में रही। इसके बाद जांच रिपोर्ट तैयार की गई।

योगी की अपारशक्ति से बनेगा राम मंदिर : मंत्री जी

 

Share.