मानव तस्करी के बाद अब जीतू सोनी ने किया दुष्कर्म, बनाया Video

0

इंदौर: मानव तस्करी और गुंडगर्दी के आरोपित जीतू सोनी (Gangrape By Jitu Soni), साथी और बाउंसरों पर पुलिस ने सामूहिक बलात्कार (Gang rape) का केस दर्ज किया है। पीड़ित महिला मुंबई (Mumbai) की रहने वाली है। उसने आरोप लगाया है कि उसका वीडियो बनाकर उसे धमकाया था। पीड़िता शनिवार को फ्लाइट से इंदौर पहुंची और एसएसपी को घटना बताई। महिला थाना पुलिस के अनुसार 43 वर्षीय पीड़िता मुंबई में रहती है। आरोपित जीतू उर्फ जितेंद्र सोनी (Jitu Soni), राजेंद्र ठक्कर (Rajendra Thakkar) और तीन अज्ञात (बाउंसर) के खिलाफ धारा 376, 376(डी) 377, 323, 342, 506 के तहत केस दर्ज किया है। महिला ने बताया कि अक्टूबर 2016 में बास्केटबॉल में होने वाले गरबा आयोजन में आई थी। आरोपित ने उसे साउथ तुकोगंज स्थित बेस्ट वेस्टर्न होटल (Best western Hotel) में ठहराया गया था।

फरार जीतू सोनी को पकड़ने के लिए बिछाया नया जाल  

इस दौरान जीतू ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोप है कि उस वक्त जीतू के साथ बाउंसर भी मौजूद थे। इस घटना के बाद भी जीतू (Gang Rape by Jitu Soni) ने कईं बार शोषण किया। जीतू के पास हथियार, बाउंसर, गनमैन देख वह घबरा गई थी। इस कारण उसने किसी को घटना के बारे में नहीं बताया। हाल ही में उसके खिलाफ कार्रवाई की जानकारी मिली तो पीड़ित महिला ने एसएसपी से संपर्क किया। एसएसपी ने शनिवार को दफ्तर में बुला घटना की जानकारी ली और टीआई अनिता देअरवाल को बुलाकर थाने भेजा। पुलिस लगातार जीतू सोनी (Jitu Soni) की तलाश में लगी है, इसके साथ ही उसके साथियों पर भी कार्रवाई की जा रही है। लगातार जीतू सोनी (Jitu Soni)  के खिलाफ नए-नए मामले सामने आते जा रहे हैं। कई मामलो के आरोपी जीतू सोनी पर पुलिस ने 1 लाख रुपये का इनाम रखा है।

जीतू सोनी के लोकस्वामी पर चला नगर निगम का बुल्डोजर

आपको बता दें कि जीतू सोनी (Gang Rape by Jitu Soni) और उससे जुड़े लोगों के खिलाफ दर्ज अपराधों की सुनवाई के लिए मप्र हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अजयकुमार मित्तल (Chief Justice of MP High Court Ajay Kumar Mittal) ने इंदौर खंडपीठ में एक स्पेशल बेंच गठित कर दी है। सोमवार से यह खंडपीठ अस्तित्व में आ जाएगी। बेंच में इंदौर खंडपीठ के प्रशासनिक जज सतीशचंद्र शर्मा (Indore bench’s administrative judge Satishchandra Sharma) और जस्टिस एसके शुक्ल रहेंगे। जमानत जैसे मामलों की दायर अर्जी पर सुनवाई सिंगल बेंच में जस्टिस शुक्ल की करेंगे। गिरफ्तारी वारंट, संपत्ति राजसात की कार्रवाई, तोड़फोड़ किए जाने, जमानत मांगने सहित जितने प्रकरण हाई कोर्ट में आएंगे, उनकी सुनवाई निर्धारित बेंच ही करेगी। जीतू के दोस्त, बिजनेस पार्टनर, रिश्तेदार, भाई, बेटे सभी इसमें शामिल रहेंगे। आरोपी कितने भी समय बाद हाई कोर्ट जाएं, उनकी बेंच पहले से तय रहेगी।

फरार जीतू सोनी का निगम ने एक और घर किया ज़मीदोज़

-Mradul tripathi

Share.