website counter widget

सेल फोन का फ्लैश चालू कर टीम का आभार

0

चोरी की वारदातें तो आए दिन होती रहतीं हैं, लेकिन अगर पुलिस प्रशासन चोरी किये मोबाइल भी ढूंढ ले तो वह सराहनीय है। दरअसल, इंदौर शहर की क्राइम ब्रांच टीम ने शनिवार को चोरी और गुम हुए 83 मोबाइल को खोजकर उनके मालिकों को वापस कर दिए। यह शिकायतें सिटीजन कॉप एप (Citizen Cop App) के जरिए मिली थीं। एसएसपी रूचि वर्धन मिश्र की मौजूदगी में मोबाइल मिलने पर खुश हुए लोगों ने सेल फोन का फ्लैश चालू कर टीम का आभार माना। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि मोबाइल गुम होने की शिकायत के लिए क्राइम ब्रांच द्वारा सिटीजन कॉप ऐप बनाया गया है। यह एक ऐसा ऐप है जिसमें पीड़ित अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकता है।

इंदौर के फ़र्ज़ी कॉल सेंटर पर पुलिस का छापा 

कुल मिलाकर 4286 मोबाइल चोरी हुए जो कि 1 जनवरी 2019 से एक मई 2019 तक के थे। ऐप के जरिए मोबाइल गुम होने की शिकायत की जा सकती है जो कि साइबर क्राइम को भी मिली थी।  जिसमें से जांच के दौरान टीम ने 1473 मोबाइल खोजकर पीड़ितों को लौटा दिए। 83 मोबाइल को लौटाने के लिए टीम ने शनिवार को पीड़ितों को पुलिस कंट्रोल रूम बुलाया, जहां क्राइम ब्रांच के एडिशनल एसपी अमरेंद्र सिंह ने उन्हें मोबाइल लौटाए। मोबाइल मिलने पर पीड़ितों ने फ़्लैश लाइट जलाकर सीएसपी और टीम का आभार जताया।

गरीब लोगों को मुफ्त में न्याय दिलाएंगे वकील

इन कंपनियों के मोबाइल खोजे

टीम द्वारा खोजे गए मोबाइलों में कई काफी महंगे हैं। इनमें वन प्लस, रेडमी, सैमसंग, मोटोरोला, वीवो, ओप्पो, माइक्रोमैक्स, आसुस, हॉनर, एचटीसी और लिनोवो के सेट शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि मिले मोबाइलों की कीमत 10 लाख रुपए से ज्यादा है।

फर्जी कंपनी ने ब्लैक लिस्टेड कर्मचारियों को बेची अपनी फ्रेंचाइज़ी

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.