इंदौर में सूखे पेट्रोल पंप, मचा हंगामा

0

इंदौर में ट्रांसपोर्टर्स (transporters) की हड़ताल (strike) के कारण लोगों की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। शहर के 90 प्रतिशत से ज्यादा पेट्रोल पंप बंद हो चुके हैं। लोग हंगामा कर रहे हैं। जहां-जहां पेट्रोल पंप खुले हैं वहाँ लोगों की लंबी लाइन लगी हुई है। पेट्रोल पंप वालों की मनमानी चल रही है। लोगों के गुस्से को देखते हुए पेट्रोल पंपों पर पुलिस बल (police force) तैनात किया गया है।

शहर में लग गई धारा 144

शहर में पेट्रोल को लेकर मारामार हो रही है। पूरे शहर में प्रशासन ने धारा 144 लगाई है। वहीं सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों को चेतावनी दी है और कहा है कि उनके खिलाफ सख्त फैसला लिया जाएगा। ट्रांसपोर्टर्स शनिवार से हड़ताल पर हैं, जिसके कारण लोग परेशान हो रहे हैं। अधिकतर पेट्रोल पंप पर नो स्टॉक का बोर्ड लटक गया है। जो 10 फीसदी पेट्रोल पंप खुले हैं उन पर ग्राहकों की 1 से 2 किलोमीटर की लंबी लाइन लगी हुईं हैं।

कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने इंदौर के हालातों को देखते हुए पेट्रोल पंप डीलर्स की इमरजेंसी मीटिंग बुलायी और उन्हें तत्काल सप्लाई बहाल करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि कोई भी पेट्रोल डीजल टैंकर रोकने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शहर में पेट्रोल डीजल की किल्लत नहीं होने दी जाएगी। पेट्रोल संकट से जनता को बचाने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। वहीं पेट्रोल पंप के मालिकों का कहना है कि वो पेट्रोल डीजल सप्लाई बहाल करना चाहते हैं लेकिन बलपूर्वक उन्हें रोका जा रहा हैं। पुलिस प्रशासन का सहयोग नहीं मिल रहा है। ट्रांसपोर्टर्स ने उनके कई टैंकर मांगलिया डिपो पर रोक लिए।

   – Ranjita Pathare

Share.