MP Honey Trap Case :  INDORE के ‘माय होम होटल’ से 67 लड़कियां बरामद

0

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर से जिस्मफरोशी (Madhya Pradesh Honey-Trap Case ) के बड़े कारोबार का भंडाफोड़ हुआ  है। अभी हनी ट्रैप के पुराने  मामलों का  दाग सबसे स्वच्छ शहर से धूला भी नहीं था कि उसके पहले ही इस मामले मे अब स्थानीय कारोबारी और एक सांध्य दैनिक के मालिक जीतेन्द्र सोनी उर्फ जीतू सोनी के होटल ‘माय होम’ (Raid At My Home Hotel & Dance Bar )  से एक साथ 67 लड़कियों का जखीरा पकड़ाया है।  इन लड़कियों में कई शादीशुदा तथा कई नाबालिग भी हैं । जीतेन्द्र सोनी उर्फ जीतू सोनी  (Jitendra Soni aka Jeetu Soni ) के होटल दफ्तर और घर में  एक साथ कार्रवाई की गई। जीतू, उनके बेटे सहित अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

MP Honeytrap Case : हनी ट्रैप मामले में कोर्ट को MP सरकार पर नहीं भरोसा!

जानकारी के अनुसार,  रविवार शाम को प्रेस कॉफ्रेंस कर होटल से बाहर निकाली गईं लड़कियों के बारे में इंदौर एसपी ने जानकारी दी। माय होम होटल (Indore My Home Hotel ) से पकड़ाई गई लड़कियों के मामले को पुलिस हनी ट्रैप मामले से जोड़कर देख रही है। पुलिसिया छापामारी में होटल से 67 लड़कियां और सात बच्चियां निकाली गई। होटल से इतनी संख्या में लड़कियों को निकलते देख लोग हैरान रह गए। पुलिस कहना है कि ये लड़कियां देश के विभिन्न हिस्सों की हैं। जिनसे होटल के डांस बार में नाच-गाने का काम करवाया जाता था।  इन्हें बंधक बनाकर रखा जाता जाता था। कई महिलाओं की मांग में सिंदूर भरा था, कई के साथ उनके बच्चे भी रहते थे। यह भी बात सामने आई है कि होटल संचालक इन लड़कियों को ज्यादा वेतन भी नहीं देता था। नाच-गाने के दौरान ग्राहकों से मिला था, उसके भी दो हिस्से कर लिए जाते थे। एक हिस्सा होटल संचालक को तथा एक हिस्सा लड़की को मिलता था।

हनी ट्रैप मामले में हाईकोर्ट ने SIT को लगाई फटकार

घटना के बारे में इंदौर(Indore My Home Hotel) एसएसपी रुचिवर्धन मिश्रा ने कहा कि यहां काम करने वाली लड़कियों और महिलाओं की शिकायत पर कार्रवाई  की गई है। पलासिया थाने में कुछ लड़कियों ने शिकायत दर्ज करवाई थीं कि उन्हें काम के बदले वेतन नहीं दिया जाता है। साथ ही उन्हें बंधक बनाकर रखा गया है। डांस बार में उनसे नाच-गाना करवाया जाता है। सभी  पर चौबीस घंटे बाउंसर नजर रखते थे। यदि किसी की तबीयत भी खराब  हुई  तो बाउंसर ही उन्हें लेकर डॉक्टर के पास जाते थे।

बड़े रसूखदारों के पास भेजी जाती थी कम उम्र की लड़किया: हनी ट्रैप

जीतू सोनी (जीतेंद्र सोनी), उसके बेटे अमित सोनी (बार का मैनेजर ) और अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 370 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है। इनके खिलाफ इंदौर हनीट्रैप मामले में आईटी कानून के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्रा ने यह  भी  बताया कि मुख्य आरोपी (जीतू सोनी) अभी भी फरार है, उसके आवास और कार्यालय पर छापेमारी की गई जहां से कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, तीन सेफ और जिंदा कारतूस बरामद किए गए।

            – Ranjita Pathare

 

Share.