इंदौर के इस प्रोजेक्ट की दीवानी हुई दुनिया

0

इंदौर: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की आर्थिक राजधानी इंदौर (Indore City) पूरे देश में स्वच्छता को लेकर पहले पायदान पर है। लेकिन इस उपलब्धि के साथ-साथ इंदौर ने अब एक और नया कीर्तिमान रच दिया है. इंदौर पूरे देश का पहला और अकेला ऐसा शहर बन गया है, जिसमें बिजली के एक लाख स्मार्ट मीटर (Indore’s Smart Meter System) लग गए हैं। इंदौर के इस कारनामे की दुनिया दीवानी हो गई है। और अब इस स्मार्ट मीटर प्रोजेक्ट (Smart Meter Project) को देखने के जर्मनी का चार सदस्यीय दल मंगलवार को इंदौर पहुंचा.

उद्धव ठाकरे ने दिए संकेत, बीजेपी के साथ बनाएंगे सरकार!

जानकारी के अनुसार पश्चिम क्षेत्र वितरण विद्युत कंपनी ने एक साल पहले प्रायोग के तौर पर पहला स्मार्ट मीटर (Indore’s Smart Meter System) लगाया था और यह प्रयोग खासा सफल रहा था। इन मीटरों के लगने से बिजली चोरी में भी भारी कमी आई है इससे प्रोत्साहित होकर बिजली विभाग (Electricity Department) के द्वारा धीरे-धीरे पूरे शहर में स्मार्ट मीटर लगाने की कवायत तेज हो गई है .पहले उन इलाको में ये स्मार्ट मीटर लगाए गए जहां बिजली चोरी ज्यादा हो रही थी. और अब धीरे-धीरे पूरे शहर में ये मीटर लगाए जा रहे है। बिजली विभाग की योजना शुरू में सिर्फ 70 हजार मीटर लगाने की थी, लेकिन इसकी सफलता को देखकर धीरे धीरे इसे बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया. देश के किसी भी शहर में इतनी संख्या में स्मार्ट मीटर नहीं लगे हैं. दिल्ली-मुंबई की निजी बिजली आपूर्ति कंपनियों ने ऐसे मीटर लगाए हैं, लेकिन उनकी संख्या महज हजारों ही है।

एनसीपी-कांग्रेस के साथ पर शिवसेना की सफाई!

जर्मनी की संस्था केएफडब्ल्यू के चार सदस्यी दल ने मंगलवार को इंदौर (Indore News) का दौरा किया। भारत में ऊर्जा क्षेत्र में हो रहे कार्यों के अध्ययन के लिए यह दल 10 दिन के भारत दौरे पर आया है। जर्मनी के ब्रिट हार्चेंके, एसिया आर्टेनी के साथ शैकत घोष और हेमंत भटनागर बिजली कंपनी के पोलोग्राउंड स्थित कार्यालय पहुंचे। दल ने यहां स्मार्ट मीटर प्रणाली के साथ ही 33 केवी फीडरों की स्काडा प्रणाली की जानकारी ली। मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों ने दल को रेवेन्यू मैनेजमेंट सिस्टम की जानकारी भी प्रदान की।

हरियाणा मंत्रिमंडल का विस्तार, नए मंत्री लेंगे शपथ!

-Mradul tripathi

Share.