पीएम मोदी इंदौर महापौर मालिनी गौड़ से मांगे इस्तीफ़ा – कांग्रेस

0

इंदौर के शहर कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष विनय बाकलीवाल (Vinay Bakliwal) और कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता भंवर शर्मा (Bhanwar Sharmal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर क्षेत्र क्रमांक 4 की विधायक और महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) के इस्तीफे की मांग की है। गौरतलब है कि विनय बाकलीवाल (Vinay Bakliwal) और भंवर शर्मा (Bhanwar Sharmal) इंदौर की महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) के इस्तीफे के पीछे पड़े हुए हैं। इस पत्र उन्होंने लिखा है कि भाजपा विधायक और महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) अपने राज धर्म का निर्वहन उचित तरीके से नहीं कर रही हैं इसलिए भारतीय जनता पार्टी को या तो उन्हें पार्टी से बाहर कर देना चाहिए या फिर उनसे उनके दोनों पदों से इस्तीफ़ा लेना चाहिए।

30 लाख असंगठित कामगारों को श्रमयोगी योजना से लाभ

गौरतलब है कि भाजपा के ‘बैटमार’ विधायक आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayavargiya) को भारतीय जनता पार्टी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसी बात को लेकर कांग्रेस अब भाजपा महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) को निशाने पर ले रही है। इस पत्र के माध्यम से कांग्रेस शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल (Vinay Bakliwal) और मुख्य प्रवक्ता भंवर शर्मा (Bhanwar Sharmal) समेत तमाम कांग्रेस पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह याद दिलाने की कोशिश की है कि संसदीय दल की बैठक में कहा गया था कि जो कोई भी राज धर्म का पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाई की जाएगी। इस पत्र में विनय और भंवर ने लिखा कि, मालिनी गौड़ (Malini Gaur) इंदौर क्षेत्र क्रमांक 4 की विधायक और साथ में महापौर भी हैं। बीते कुछ दिन पहले भाजपा के विधायक आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayavargiya) ने एक नगर निगम अधिकारी को बल्ले से पीटा था।

Photos :  कीचड़ में लथपथ नज़र आया नशे में टल्ली शिक्षक

इस घटना के बाद महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) ने अपनी कार्यकाल वाली नगर निगम का साथ देने की जगह आरोपी विधायक आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayavargiya) का साथ दिया था। महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) ने इंदौर के राजवाड़ा पर जाकर धरना दिया था। उनका धरना देना और आकाश का समर्थन करना इस बात को सिद्ध करता है कि वे अपने राज धर्म का निर्वाहन नहीं कर रही बल्कि आरोपी का साथ दे रही है। इसलिए जब भारतीय जानत पार्टी की केन्द्रीय अनुशासन समिति ने आरोपी विधायक आकाश को मारपीट के मामले में नोटिस जारी कर जवाब मांगा है, तो ऐसे में महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) से भी जवाब मांगा जाना चाहिए। महापौर से केन्द्रीय अनुशासन समिति ने जवाब क्यों नहीं मांगा? उन्होंने भी राज धर्म का पालन नहीं किया है। कांग्रेस ने अपने पत्र में कहा कि भाजपा की केन्द्रीय अनुशासन समिति को तत्काल ही इंदौर की महापौर मालिनी गौड़ (Malini Gaur) के खिलाफ भी नोटिस जारी कर जवाब मांगना चाहिए। इतना नहीं विनय और भंवर शर्मा (Bhanwar Sharmal) ने यह भी लिखा कि मालिनी गौड़ (Malini Gaur) को न सिर्फ अपने पद से इस्तीफ़ा देना चाहिए बल्कि इंदौरवासियों से मांफी भी मांगनी चाहिए।

तीसरी क्लास का बच्चा देख रहा था पोर्न साइट्स, उसके बाद…

Share.