बस चालकों पर रहेगी कड़ी नज़र

0

नवीन शिक्षण सत्र की शुरुआत सोमवार को खुशनुमा मौसम के बीच हो गई| स्कूलों में पहले दिन बच्चों में काफी उत्साह दिखाई दिया| स्कूल प्रबंधन ने  बच्चों का स्वागत शुभकामनाओं के साथ किया| पहले दिन उन स्कूली बच्चों का फूल देकर स्वागत किया गया, जिन्होंने गतवर्ष सर्वाधिक अंक हासिल कर अगली कक्षा में प्रवेश किया|

स्कूलों में गतवर्ष हुए डीपीएस बस हादसे का असर भी देखा गया| हादसे से सबक लेते हुए डीपीएस स्कूल प्रबंधन के साथ ही अन्य स्कूल संचालक चाक-चौबंद नज़र आए|

फ्लाइंग स्क्वॉड का गठन

उल्लेखनीय है कि डीपीएस स्कूल के 4 मासूम बच्चों की 5 जनवरी को एक दर्दनाक हादसे में जान चली गई थी| स्कूल के प्रिंसिपल अजय के. शर्मा बच्चों की सुरक्षा को लेकर सत्र की शुरुआत से ही अलर्ट नज़र आए| उन्होंने कहा कि 3 सदस्यीय फ्लाइंग स्क्वॉड का गठन किया गया है, जो स्कूल बसों के शहर में होने के दौरान नज़र रखकर यह पता करेगा कि कोई बस चालक लापरवाही तो नहीं बरत रहा है| डीपीएस प्रबंधन ने अपनी स्कूल बसों को सभी संसाधनों से लैस कर लिया है|

बस चालकों ने की पूजा

सत्र के पहले दिन स्कूलों में बस चालकों ने अपनी-अपनी बसों की पूजा की| इन सभी बसों में सुरक्षा संसाधन लगे दिखाई दिए| हादसे से सबक लेते हुए सभी बसों में स्पीड गवर्नर, कैमरे, अग्निशमन यंत्र, सीट बेल्ट और अन्य जरूरी सुविधाएं जुटाई गई हैं | इसके अलावा पुरानी बसें भी बदली गई हैं, जिनके स्थान पर नई बसें लगाई गई हैं | अभिभावकों का कहना है कि कभी भी पिछले वर्ष जैसा हादसा न हो, इसके जिला प्रशासन को अभी से एहतियात बरतना चाहिए|

Share.