website counter widget

BJP Candidate Shankar Lalwani का नया अवतार

0

इन दिनों लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) का दौर चल रहा है और सातवें और अंतिम चरण यानी 19 मई को इंदौर लोकसभा क्षेत्र के लिए भी मतदान होना है| मतदान की तारीख और प्रचार ख़त्म होने का समय के नज़दीक आने पर सभी जोर-शोर से जनसंपर्क, रैलियों और जनसभाओं के आयोजन में जुटे हैं, सबका एक ही मकसद है अधिक से अधिक मतदाताओं के वोट हासिल करना| इन दिनों भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी (Shankar Lalwani Wishes Groom In Indore)  भी वोटर्स को अपनी ओर करने में लगे हैं| चुनाव प्रचार के दौरान उनका एक अनूठा ही रूप सामने आ रहा है | उनका यह अंदाज़ जनता को भी काफी लुभा रहा है|

ईवीएम की सुरक्षा पर प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने उठाए सवाल

दरअसल, चुनाव में उम्मीदवार को सबकुछ करना पड़ता है, कभी दुल्हन को आशीर्वाद देने जाना पड़ता है तो कभी दूल्हे को प्रभावित करने उनके समीप तक पहुंचना पड़ता है। भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी भी कुछ ऐसा ही कर रहे हैं| जब भी कोई दूल्हा बारात लेकर रास्ते में नज़र आ जाता है तो भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी (Shankar Lalwani Wishes Groom In Indore)  कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं, वे तत्काल अपने चुनावी जनसम्पर्क में शामिल भीड़ को दूल्हे के घोड़े की तरफ मोड़ लेते हैं और कुछ सेकंड रुककर उन्हें सुखद भविष्य की शुभकामनाएं भी देते हैं और एक पुष्पमाला पहनाकर कुछ देर हंसी-मजाक भी कर लेते हैं |  दूल्हा भी शंकर लालवानी को अग्रिम शुभकामनाएं दे देता है।

मोदीजी जब आपने पैंट पहनना नहीं सीखा था तब…

गौरतलब है कि इसके पहले शंकर लालवानी (Shankar Lalwani Wishes Groom And Bride In Indore ) कई दुल्हनों से भी मिले थे| उस समय लालवानी ने उनसे बतौर भाई आशीर्वाद भी मांगा था, एक दुल्हन ने तो बहन के रूप में माला पहनाकर उन्हें जीत का आशीर्वाद भी दिया था |

शंकर लालवानी का एक और निराला अंदाज़ कुछ दिनों पूर्व भी दिखाई दिया था, जब  उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कांग्रेस उम्मीदवार पंकज संघवी के नाम खुली चिट्ठी (Shankar Lalwani Open Letter To Pankaj Sanghvi) लिखी थी। इस चिट्ठी को लिखने का मकसद शंकर लालवानी का अलग-अलग धर्म के लोगों की जगह सभी को भारतीय बताना था । इसी तरह विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 2 में भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी ने जनसम्पर्क किया था । क्षेत्रीय विधायक रमेश मेंदोला (ramesh mendola) भी इस दौरान मौजूद थे। जनसम्पर्क के दौरान दोनों एक दुकान पर कचोरी तलने और अपने हाथ का कौशल दिखाने पहुंच गए । भाजपा नेता दुकान में अन्दर घुसे और कार्यकर्ताओं को बाहर खड़ा रखा गया।

‘वोट न डाल कर दिग्विजय सिंह ने पाप किया’

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.