भोपाल से इंदौर आये अधिकारी को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते पकड़ा

0

इंदौर (Indore) में लोकायुक्त पुलिस ने आज यानी शनिवार को एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। भोपाल से रिश्वत लेने इंदौर आये बीआईएस (Bureau of Indian Standards) के अधिकारी को पुलिस ने रंगे हाथों पकड़ा। लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि भारतीय मानक ब्यूरो (bis ) के भोपाल स्थित आंचलिक कार्यालय में अरुण कुमार शंखवार को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है। अधिकारी के बारे में इंदौर के उद्योगपति ने शिकायत की थी।

DHFL में 1 लाख करोड़ रुपए फंसे

जानकारी के अनुसार, इंदौर के उद्योगपति सुनील अजमेरा ने लोकायुक्त पुलिस से शिकायत की थी कि उसने अपने उत्पाद के लिए आईएसआई मानक प्रदान करने के संबंध में बीआईएस के भोपाल स्थित कार्यालय में आवेदन दिया था। वहां पर वैज्ञानिक पद के अधिकारी ने इस काम के लिए रिश्वत मांगी। वैज्ञानिक अरुण शंखवार ने आईएसआई मार्क प्रदान करने के लिए सुनील से 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद सुनील ने लोकायुक्त में बीआईएस अधिकारी की शिकायत की।

मुख्यमंत्री के नाम की दी अधिकारियों को धमकी

बनाई गई योजना

रिश्वतखोर अधिकारी को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई। इसके बाद फरियादी से कहा कि वह रिश्वत की प्रथम किश्त के रूप में 10 हजार रुपए देने के लिए आरोपी को इंदौर बुलाए। रिश्वत लेने के लिए शनिवार को अरुण भोपाल से इंदौर आया। अधिकारी जब इंदौर पहुंचा तो उसे रिश्वत लेते हुए रंगे  हाथों पकड़ा गया। आरोपी अरुण शंखवार के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम संशोधित 2018 की धारा 7 के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है।

किम जोंग जैसी हैं ममता, श्राद्ध का जुलूस निकालेगी जनता!

Share.