website counter widget

इंदौर से कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी का भाजपा को लेकर बड़ा बयान

0

लोकसभा चुनाव 2019 (Indore Lok Sabha Election 2019) के लिए 19 मई को इंदौर (Indore) में मतदान होना है। लोकसभा चुनाव के लिए इंदौर सीट से किस प्रत्याशी को उतारा जाए, इस बात को लेकर कांग्रेस और भाजपा में असमंजस की स्थिति थी| कांग्रेस ने इस स्थिति से उबरते हुए यहाँ से पंकज संघवी (Pankaj Sanghvi Attacked On BJP) को टिकट दे दिया है, परन्तु भाजपा अब भी उहापोह की स्थिति में है| भाजपा ने सिर्फ इंदौर को छोड़कर अन्य सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार मैदान में उतार दिए हैं। अब प्रत्याशी घोषित होने के बाद पंकज संघवी ने भाजपा पर हमले शुरू कर दिए हैं| हाल ही में उनका एक बयान सामने आया है|

ईवीएम पर नहीं कर्मचारियों पर संदेह : रावत

इंदौर से प्रत्याशी का नाम तय करना भाजपा के लिए मुश्किल काम प्रतीत हो रहा है। शुक्रवार को इंदौर से कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा (Pankaj Sanghvi Attacked On BJP), “भाजपा में सब दावेदार लठ्‌ठ लेकर खड़े हैं…सब एक-दूसरे का विरोध कर रहे हैं।“ मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा, “भाजपा में सब दावेदार बन गए हैं..शंकर लालवानी का नाम आया तो सब दौड़ पड़े (विरोध में)…गोपी नेमा बोल रहे हैं मुझे टिकट मिल जाए…चंदू माखीजा सोच रहे हैं मुझको मिल जाए। वहीं ताई (सुमित्रा महाजन) सोच रही है कि उनके लड़के को टिकट मिल जाए। बहुत मुश्किल है…अभी तीन चार दिन और लगेगा तब भाजपा नाम घोषित कर पाएगी।

Indore News : मंत्री सज्जनसिंह वर्मा भतीजे के बचाव में उतरे

गौरतलब है कि इंदौर लोकसभा सीट पर प्रत्याशी घोषित होने के बाद मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की सभी 29 सीटों पर कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं। इंदौर सीट से अभी तक भाजपा ने कोई भी प्रत्याशी नहीं उतारा है। भाजपा की तरफ से सुमित्रा महाजन लगातार आठ बार इंदौर की कमान संभालती आ रही हैं। लेकिन इस बार चुनावी दौड़ से महाजन के बाहर हो जाने पर इस सीट से अभी तक भाजपा ने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है। हालांकि इस सीट पर कांग्रेस ने भी बेहद सोच-विचार करने के बाद पंकज संघवी को टिकट दिया है।इस बार पंकज के सामने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का 30 साल पुराना गढ़ भेदने की मुश्किल चुनौती है।

हालांकि, संघवी साल 1998 में इंदौर लोकसभा क्षेत्र में बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुमित्रा महाजन से 49,852 मतों से चुनाव हार चुके हैं। फिलहाल सुमित्रा महाजन लोकसभा की निवर्तमान अध्यक्ष हैं। बीजेपी की ओर से इस बार भी सुमित्रा महाजन को मध्यप्रदेश की इस सीट से बीजेपी के टिकट का शीर्ष दावेदार माना जा रहा था। इस बीच, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक पत्रिका को दिए साक्षात्कार में कहा था कि यह उनकी पार्टी का फैसला है कि 75 साल से ज्यादा उम्र के नेताओं को लोकसभा चुनावों का टिकट नहीं दिया जाएगा।  12 अप्रैल को उम्र के 76वें वर्ष में प्रवेश करने से हफ्ता भर पहले ही सुमित्रा महाजन ने मौके की नजाकत भांपते हुए 5 अप्रैल को खुद घोषणा कर दी थी कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। वह 1989 से लोकसभा में इंदौर की सांसद हैं|

उपचार के दौरान ज़िन्दा जली मासूम की मौत

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.