इंदौर के नेता संभालेंगे हरियाणा में सरकार बनाने की कमान

0

इंदौर: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में झाबुआ विधानसभा उप चुनाव में हार मिलने के बाद से भाजपा में थोड़ा गम का माहौल है। प्रदेश के बड़े भाजपा नेताओं के द्वारा हार की समीक्षा की जा रही है। इस हार के बाद इंदौर संभागीय संगठन की बैठक हुई. इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan), प्रदेश संगठन मंत्री सुहाष भगत और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (BJP National General Secretary Kailash Vijayvargiya) समेत तमाम इंदौर भाजपा के बड़े नेता उपस्थित रहे इस बैठक में हार के कारणों के बारे में चर्चा की  गई और आगे इसमें सुधार करने पर बातचीत की गई। इस चुनाव में कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया ने भाजपा के भानु भूरिया को मात दी है।

जो बीजेपी में शामिल होगा, उसे जनता मारेगी जूते!

 इंदौर (Indore) संभागीय संगठन की बैठक दौरान प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के पास फोन आया और वह अचानक हड़बड़ी में दिल्ली के लिए रवाना हो गए ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है की हरियाणा में सरकार बनाने की खींचतानी में मजबूती के लिए शिवराज सिंह को बुलाया गया है।

पूर्व सीएम के रिश्तेदार की साँप काटने से मौत

हरियाणा चुनाव में भाजपा को मिली कम सीटों को देखते हुए सरकार बनाने के लिए इंदौर के कुछ नेताओं को भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव जीतने वाले विधायकों को फिर से अपनी तरफ शामिल करने की जिम्मेदारी दी गई है. जानकारी के अनुसार  इंदौर भाजपा के ज्यादातर नेताओं ने 2014 में हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ हरियाणा के प्रभारी रहते हुए उनके साथ काम किया था. जबकि भाजपा ने बड़े अंतराल के साथ चुनाव जीता था. इसलिए इंदौर (Indore) भाजपा के नेता हरियाणा के बागी नेताओं के लगातार संपर्क में हैं. और इंदौर के कई नेता जल्दी ही हरियाणा रवाना होंगे जिनका हरियाणा में सरकार बनाने में अहम रोल रहेगा।

दम है तो गिराकर दिखाइए हमारी सरकार: कमलनाथ

-Mradul tripathi

Share.