एक मंच पर साथ आए सभी धर्मगुरु

0

समाज से लेकर राजनीति तक, भारत में धर्म का विशेष महत्व है| ऐसे में अलग-अलग धर्मगुरुओं का एक मंच पर आकर समाज हित में अपने विचार रखना काफी अच्छा लगता है| इंदौर में पहली बार रिलीजन कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया, जिसमें सभी धर्मों के वरिष्ठ प्रतिनिधि शामिल हुए|

‘हमसाज’ नाम के इस आयोजन में सभी प्रतिनिधियों ने कहा कि आपस में मतभेद जरूर है, लेकिन मनभेद नहीं है| बुधवार को ब्रिलियंट कन्वेंशन में शुरू हुए इस दो दिनी कॉन्क्लेव में संत, मौलाना, महामंडलेश्वर भी एक मंच पर आए| इस मंच पर आस्था, विश्वास, विचार और चेतना पर बात हुई|

इस आयोजन में शामिल प्रसिद्ध भय्यू महाराज ने कहा कि हर व्यक्ति एक गुण मानव समाज को और एक राष्ट्र को दे| उनका मानना है कि ऐसे में लोग नफरत, हिंसा, जातिवाद को भूल मानवता को सबसे पहले रखेंगे| लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने इस मौके पर कहा कि शूद्र कोई नहीं, सिर्फ एक सोच है| इसे बदलने की जरूरत है| असली धर्म मानवता है, लोगों की भलाई है|

Share.