website counter widget

पेट्रोल पंप लूट और बस एजेंट की हत्या की प्लानिंग करते 6 गिरफ्तार

0

इंदौर: क्राइम ब्रांच(Crime Branch) ने एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो पेट्रोल पंप(Petrol pump) पर लूट के बाद एक बस एजेंट की हत्या करने की साजिस बना रहे थे। पुलिस गिरफ्त में आए 6 आरोपियों के पास से कारतूस सहित दो पिस्टल, दो बड़े चाकू, दो टॉमी और एक चार पहिया वाहन, जिसमें सवार होकर ये वारदात को अंजाम देने जा रहे थे। बस के परिचालन को लेकर विवाद के चलते बस ऑपरेटर के भाई ने एजेंट की हत्या की सुपारी इन्हें दी थी। गिरोह के सरगना पर कई केस दर्ज हैं।

छात्र आंदोलन के सामने झुका प्रशासन, फीस कम की

एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र के अनुसार क्राइम ब्रांच को जानकारी मिली की कुछ लोग एबी रोड के पास हथियारों के साथ फ्लाइंग जंक्शन, पेट्रोल पंप पर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहे थे। सूचना पर एक टीम किशनगंज पुलिस के साथ मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर हथियारों से लैस 6 बदमाशों को पकड़ा। इनमें मनोज पिता लालू वर्मा निवासी भंवरकुआं, लखन पिता कडवा पंचोली निवासी राहुल गांधी, शिवा पिता बलीराम वर्मा निवासी भंवरकुआं, सुनील पिता मांगीलाल भालेकर निवासी भंवरकुआं, जितेन्द्र बदामे पिता सीताराम निवासी, भंवरकुआं और एक नाबालिग शामिल है। पूछताछ में इन्होंने पेट्रोल पंप लूटने और फिर महू के बस एजेंट अशोक वर्मा की हत्या की प्लानिंग के लिए साथ बैठने की बात कबूली। पुलिस ने इनके पास से 2 देशी कट्टे (मय कारतूस), 2 बड़े चाकू, 2 टॉमी बरामद किए।

महाराष्ट्र में बनेगी शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार!

पूछताछ में बताया कि भंवरकुआं निवासी निब्बू पहलवान और महू के बस एजेंट अशोक वर्मा के बीच समय से बसों के परिचालन को लेकर, परमिट के समय तथा अन्य कारणों से विवाद चला रहा था। निब्बू का भाई बस ऑपरेटर है। इसी विवाद को खत्म करने के लिए निब्बू ने अपने परिचित मनोज वर्मा को अशोक की सुपारी दी। मनोज पर भंवरकुआं में 4 अपराध दर्ज हैं, वहीं निब्बू पर दर्जनभर से अधिक प्रकरण दर्ज हैं। वह कुछ समय पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आया है, इसलिए वह हत्या जैसा जुर्म अभी नहीं करना चाहता था। निब्बू के भाई की बस में कंडक्टर रहने और सुपारी के रूम में मोटी रकम मिलने के चलते वर्मा ने हत्या के लिए हां कर दी।

कुलभूषण जाधव को लेकर पाकिस्तान का बड़ा फैसला!

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.