LIVE: इंदौर में दाऊदी बोहरा समुदाय के साथ पीएम मोदी और सीएम

0

बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल मौला वाअज़ के लिए इंदौर  आए हुए हैं  | आज उनसे मिलने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इंदौर पहुंचे| मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराजसिंह चौहान ने उनका इंदौर  एयरपोर्ट पर स्वागत किया| उनके साथ पार्टी प्रदेश अध्यक्ष राकेशसिंह ने भी स्वागत किया| प्रधानमंत्री  यहां बोहरा समाज के कार्यक्रम ‘आलमी पैग़ाम-ए-इंसानियत’ में शामिल होने आए | 

दोपहर 12.05 : प्रधानमंत्री एयरपोर्ट के लिए रवाना

दाऊदी बोहरा समाज के कार्यक्रम में शामिल होने और संबोधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रम स्थल से रवाना हो चुके हैं| यह पहला ऐसा ऐतिहासिक कार्यक्रम रहा, जिसमें देश का कोई प्रधानमंत्री शरीक हुआ हो|

दोपहर 12.00 बजे : मोदीजी को भेंट

प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम में शॉल से सम्मान किया गया|  सीएम शिवराज को भी शॉल भेंट की गई| इस कार्यक्रम में 2.5 लाख से अधिक बोहरा समाज के लोग मौजूद रहे | देश-विदेश से भी बोहरा समाजजन कार्यक्रम में आए हुए हैं|

सुबह 11.30 बजे : प्रधानमंत्री का संबोधन शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में  पहले सभी को अशरा मुबारक किया और बोले, “इस पवित्र मौके पर आपने मुझे यहां आने का मौक़ा दिया, इसके लिए मैं  आभारी हूं| मुझे बताया गया है कि तकनीक के माध्यम से देश और समाज के लोग अभी यहां हमारे साथ जुड़े हुए हैं, उन सभी को मैं प्रणाम करता है| साथियों आपने इमाम हुसैन के प्रयासों और उनके विचारों को अपनाया  और  अभी तक उनका पालन कर रहे हैं| उन्होंने न्याय और ईमान के लिए आवाज उठाई| उनकी सीख पहले जितनी ज़रूरी थी, आज भी उतनी ही ज़रूरी है| सैयदना साहब और बोहरा समाज का एक-एक जन इससे जुड़ा हुआ है| हम सभी को साथ लेकर चलने की परम्परा को लेकर चलने वाले हैं| यही शक्ति हमें दुनिया के दूसरे लोगों से अलग पहचान देती है| दुनिया में कहीं भी जाए हमें अलग पहचान मिलती है|”

उन्होंने कहा, हमें अपने अतीत और वर्तमान पर विश्वास है| मैं दुनिया में जहां भी जाता हूं शांति और विकास के लिए जो बाते हैं, वे मैं लोगों से ज़रूर करता हूं| शांति और समाज कल्याण कार्य करना बोहरा समाज की  हमेशा ही योग्यता रही है| अपने राष्ट्र से प्रेम और समर्पण की सीख सैयदना साहब हमेशा देते  रहे हैं |गांधीजी और सैयदना साहब  ने  देश के विकास में अहम भूमिका निभाई थी| दोनों की मुलाकात ट्रेन में हुई थी, इसके बाद कई बार मिले  और  देश के विकास के लिए संवाद किया| दांडी यात्रा के दौरान बापू सैयदना साहब के घर ठहरे थे| गांधीजी के विचारों का सम्मान करते हुए सैयदना साहब ने सैफी विला को देश की आज़ादी के बाद देश को समर्पित कर दिया| अभी सैयदना साहब के प्रवचन से मैं अपनापन महसूस कर रहा हूं| मेरा सौभाग्य है कि आपका स्नेह मुझे हमेशा मिलता है| मेरा जन्मदिन आने वाला है, इससे पहले आपका आशीर्वाद मिला|

उन्होंने कहा, “गुजरात का शायद ही कोई गांव हो, जहां बोहरा समाज का प्रतिनिधि नहीं हो| जब मैं गुजरात का सीएम था, उस समय कदम-कदम पर समाजजन ने मेरा साथ दिया| एक बार एयरपोर्ट पर सैयदना साहब मिल गए, तब उन्होंने बच्चों के जैसा  मुझे स्नेह दिया| उस समय मैंने गुजरात में डेम बनाने की बात कही थी| इसके बाद वहां से जाते ही उन्होंने इस कार्य को हाथ में लिया और कई चेक डेम का अभियान चलाया| आज से कुछ वर्ष पहले मैंने एक कार्यक्रम में कुपोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए बोहरा समाज से आग्रह किया था| इसके लिए भी मेरा साथ दिया गया | एक-एक माता को सुरक्षित करने का अभियान देशभर में चलाया जा रहा है| हर बच्चे की शिक्षा और उनके पोषण के लिए जो कार्य किया जा रहा है, उसने समाज को सशक्त किया है| महाराष्ट्र में भी बच्चों को पोषक तत्व देने का कार्य किया जा रहा है| यह प्रयास देश के फैज़-ए-मवेद और खालिद कम्युनिटी किचन के माध्यम से  किया जा रहा है कि कोई भी समाजजन भूखा न सोए|”

उन्होंने कहा, “गरीबों की सहायता के लिए कई अस्पताल भी चलाए जा रहे हैं| यही सोच देश को शक्ति देती है| देश में स्वास्थ्य को पहली बार सरकार ने इतनी प्राथमिकता दी| कई सारी योजनाएं चलाई जा रही हैं| अब ‘आयुष्मान भारत’ देश के करीब पचास करोड़ लोगों के लिए औषधि  बनकर आई है| पूरे यूरोप में जितने लोग हैं, उतनी  आबादी को आयुष्मान भारत के माध्यम से लाभ दिया जा रहा है| पचास करोड़ लोगों के स्वास्थ्य का इस योजना के जरिये ध्यान रखने की योजना बनाई जा रही है| इसे 25 सितंबर से लागू किया जाएगा| लगभग 11 हजार लोगों को बोहरा समाज घर दे चुका  है| सरकार ने भी देश के हर गरीब भाई-बहन को आवास देने का लक्ष्य रखा है| अभी तक सरकार ने लगभग 1 करोड़ लोगों को उनके घर की चाबी दे दी है| शिक्षा और स्किल डेवलपमेंट के प्रति भी समाज का प्रयास देश को ताकत देता है| देश के जनमानस के जीवन को सरल बनाने के लिए हम लगातार कोशिश करते रहते हैं|”

उन्होंने कहा,”गरीब और माध्यम वर्ग से जुड़े मुद्दे ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को भले ही सरकार ने शुरू किया, लेकिन अब लोग इसे आगे बढ़ा रहे हैं| चार वर्ष पहले तक देश में सिर्फ चालीस प्रतिशत घरों में ही टॉयलेट थे| हमारी माताओं और बहनों को कितनी तकलीफ होती थी, यह हम जान सकते हैं| इतने कम समय में अब वह संख्या 90 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है| आज हम जिस इंदौर शहर में जुटे हुए हैं, वह तो स्वच्छता में सबसे आगे हैं| मैं इंदौर के नागरिकों को यहां के प्रतिनिधियों और सीएम को प्रणाम करता हूं| स्वच्छता और पर्यावरण की पवित्रता को सुनिश्चित करने में भी आपका योगदान अहम रहा है|”

“यहां प्लास्टिक बैग बैन किए गए हैं| यहां रोजाना वेस्ट को रिसाइकल किया जाता है| इनसे आप पर्यावरण की सेवा तो कर ही रहे हैं, लेकिन देश की सेवा को भी बल दे रहे हैं| कल 15 सितंबर से ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़ा शुरू हुआ है| यह 2 अक्टूबर तक चलेगा| मैं कल खुद देश के स्वच्छताप्रेमियों से और कई लोगों से वीडियो कॉल के माध्यम से साथ आऊंगा|

आज यहां इंदौर में आप सभी के बीच बोहरा समाज को और मध्यप्रदेश के मेरे भाई-बहन को स्वच्छता के इस अभियान से जुड़ने का न्योता देने आया हूं|”

“अनुशासन में रहते हुए कैसे व्यापार आगे बढ़ाया जाता है, इस मामले में समाज ने मिसाल कायम की है| देश में व्यापारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं, इसे जितनी भी सहायता की ज़रूरत होगी, सरकार उन्हें  मुहैया कराएगी| सरकार ने पिछले चार साल में यह संदेश दिया है कि जो भी हो, नियमों के दायरे में ही होना चाहिए| जीएसटी और कई तरीके से लोगों को प्रोत्साहित किया जाता है और इनका सबसे ज्यादा फायदा बोहरा समाज उठाता है|जिस गति से हम आगे बढ़ रहे हैं, वहां तमाम चुनैतियों के बावजूद हम पहुंच सकते हैं| आप सभी देश के विकास में अहम योगदान दे रहे हैं| देश के नवनिर्माण के लिए हम निरंतर आगे बढ़ते रहेंगे, इसी के साथ मैं अपनी बात ख़त्म करता हूं| मुझे निरंतर आपसे प्रेम मिलता है, यह मेरे लिए अमानत है, शक्ति है और यह पूरे देश की शक्ति है|”

सुबह 11.20 बजे : सैयदना साहब की वाअज़ शुरू

‘आलमी पैग़ाम ए इंसानियत’ नामक कार्यक्रम में दाउदी बोहरा समाज के धार्मिक गुरु वाअज़ यानी प्रवचन दे रहे हैं| वे किताब से पढ़कर इमाम हुसैन की यादों को पढ़कर सुना रहे हैं| ऐसी ही एक-एक किताब प्रधानमंत्री मोदी और सीएम शिवराज को भी दी गई|

सुबह 11.10 बजे : सीएम का उद्बोधन

प्रधानमंत्री के स्वागत के बाद मुख्यमंत्री शिवराज के भाषण के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई| उन्होंने प्रधानमंत्री की तारीफ की और इसके बाद सैयदना साहब से मिलने पर ख़ुशी व्यक्त की| उन्होंने कहा कि सैयदना साहब के कारण उनके समुदाय में एकता है| समाज में सभी एक जैसा खाना खाते हैं| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी गरीबों के रहने के लिए ‘प्रधानमंत्री आवास योजना’ की शुरुआत की, लेकिन बोहरा समाज में पहले से ही गरीब समाजजन के रहने की व्यवस्था की जाती है| बोहरा समाज एक ऐसा समाज है, जहां महिलाओं और बच्चों की तालीम पर विशेष ध्यान दिया जाता है|

सुबह 11.00 बजे : प्रधानमंत्री नरेंद्र पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभास्थल  पर पहुंचे चुके हैं|

गौरतलब है कि सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन को प्रदेश सरकार ने राजकीय अतिथि का दर्जा दिया है| उनके इंदौर आने के बाद अलग-अलग सियासी नेताओं ने उनका स्वागत किया| इनमें लोकसभा अध्यक्ष व स्थानीय भाजपा सांसद सुमित्रा महाजन, प्रदेश के सहकारिता राज्य मंत्री विश्वास सारंग और वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा रतलाम-झाबुआ क्षेत्र के लोकसभा सांसद कांतिलाल भूरिया शामिल हैं|

मोहर्रम के अशरा मुबारक की पहली वाअज़ में बोले सैयदना साहब

Share.