LIVE: अविश्वास प्रस्ताव : सरकार और विपक्ष में घमासान

0

संसद में आज मानसून सत्र का तीसरा दिन है| आज कांग्रेस मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश कर रही है| लोकसभा में सरकार और विपक्ष के बीच आर-पार की लड़ाई जारी है| टीडीपी सांसद की ओर से बुधवार को लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए आज यानी शुक्रवार का दिन तय हुआ था| टीडीपी, कांग्रेस, बीजेपी, टीएमसी सहित कई दलों ने अपने-अपने सांसदों को सदन में मौजूद रहने का आदेश सुना दिया है|

शाम 6.05: राजनाथ सिंह ने पढ़ाया देश का इतिहास

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि राजनाथ सिंह ने अपने भाषण से देश का इतिहास पढ़ाया है| कर्नाटक के हर एक व्यक्ति का जो पता है वह पाठ राजनाथ जी हमें पढ़ा रहे थे| राजनाथ सिंह रामामण-महाभारत तक गए लेकिन सिर्फ राम, भीम और कृष्ण ही याद आए| उन्होंने कहा कि आपने समाज को तोड़ने की कोशिश की, असमानता की ओर समाज को ढकला जा रहा है, ऐसे में लोकतंत्र खत्म ही हो जाता| कांग्रेस ने लोकतंत्र बचाने की कोशिश की ये आपको मानना पड़ेगा|

शाम 6.02: लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का भाषण शुरू

लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का भाषण शुरू हो गया, वे अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में बोल रहे हैं| इसीबीच लोकसभा स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को 7 बजे तक बढ़ाने का फैसला किया है|

शाम 5.59: सरकार सही दिशा में काम कर रही है

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि क्या पीएम मोदी ने कहा कि राम मंदिर बनना चाहिए, उन्होंने तो कोर्ट का फैसला मानने की ही बात कही| सरकार संविधान के मुताबिक काम कर रही है और एक भी काम अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं किया| राहुल गांधी को और मेहनत करने की आवश्यकता है|

शाम 5.57: मुलायम सिंह पर कसा तंज

रामविलास पासवान ने कहा कि मुलायमसिंह की पार्टी की वजह से प्रमोशन में आरक्षण नहीं हो पाया| मोदी सरकार बनने के बाद से जब हम मंत्री बने तब 42 साल बाद सेंट्रल हॉल में बाबा साहब अंबेडकर की फोटो लगवाई गई. उनकी जन्मदिन पर छुट्टी का ऐलान किया गया|

शाम 5.52: कांग्रेस के सांसदों ने जताई आपत्ति

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने महिला आरक्षण बिल पर कहा कि कांग्रेस सपा और आरजेडी से बात कर ले| पहले भी कोशिश हो चुकी है इसे पास करने के लिए लेकिन यह बिल पारित नहीं हो सका| कांग्रेस बिना शर्त इस बिल को समर्थन के लिए तैयार है लेकिन क्या उसके सहयोगी इसले लिए तैयार हैं| इस बयान के बाद कांग्रेस के सांसदों ने आपत्ति जताई|

 

शाम 5.48: न्यायपालिका के खिलाफ बोल रहा हूं

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोलेजियम सिस्टम में पारदर्शिता नहीं है| भारतीय न्यायपालिका की समीक्षा करने की जरुरत है| इसके बाद उन्होंने कहा कि आज सदन में न्यायपालिका के खिलाफ बोल रहा हूं, यदि बाहर बोलूंगा तो अवमानना का दोषी हो जाउंगा|

शाम 5.33:

सरकार की प्राथमिकता केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि कांग्रेस सरकार लंबे समय तक सत्ता में रही लेकिन गरीबी बरक़रार थी, अब मोदी सरकार इस दिशा में काम कर रही हैं| सभी जरूरतमंद लोगों के घर बनवाये जा रहे हैं| सरकार की प्राथमिकता गरीबों के लिए काम करने की होनी चाहिए|

शाम 5.16: भाजपा के रवैए से भाग रहे सहयोगी

सांसद तारिक अनवर ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा के रवैए से उनके सहयोगी भाग रहे हैं| टीडीपी एनडीए छोड़ चुका है, शिवसेना आपके साथ सदन में नहीं खड़ी है, बिहार से सीएम नीतीश कुमार भी आंखे दिखा रहे हैं| एनडीए के साथियों को लग रहा है कि मोदी जी के साथ चुनाव नहीं जीत सकते क्योंकि बीजेपी डूबती नांव हैं|

शाम 5.12: यह राम राज है तो रावण राज क्या होगा?

एनसीपी सांसद तारिक अनवर ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री राम राज की बात करते हैं लेकिन यदि यही राम राज हैं तो रावन राज क्या होगा? भाजपा के भीतर अजीब स्थिति है क्योंकि पार्टी का नेतृत्व दो लोगों के बीच सिमट गया है| आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह तक की सलाह नहीं ली जाती| पार्टी ने इसीलिए मार्ग दर्शक मंडल बनाया है लेकिन उनसे भी कोई राय नहीं ली जाती वह सिर्फ नाम के लिए हैं|

शाम 5.05: नहीं हुआ सबका विकास, न ही मिला साथ  

एनसीपी सांसद तारिक अनवर ने अपने भाषण की शुरुआत सरकार के अच्छे दिन के नारे और विकास के वादे से की| उन्होंने कहा कि जनता को विश्वास था कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की तस्वीर बलदेली और समस्याएं दूर होंगी लेकिन आज समीक्षा करने पर पता चलता है कि सबका साथ भी नहीं है और सबका विकास भी नहीं है| सरकार से हर परिवार दुखी हैं, नौजवान परेशान, किसान बदहाली में आत्महत्या कर रहा है| महिलाओं की सुरक्षा के मामले में भी देश बदनामी झेल रहा है|

शाम 5.04: एनसीपी सांसद तारिक अनवर का भाषण शुरू

शाम 5.03: राजनाथ सिंह का संबोधन समाप्त

राजनाथसिंह ने कहा कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने में कुछ अड़चने हैं, लेकिन इन पर सरकार कार्य कर रही हैं| आंध्र की सरकार को जो भी मदद केंद्र से मिली है उसपर काम करते हुए राज्य सरकार को परियोजनाएं लागू करनी चाहिए| अविश्वास प्रस्ताव का विरोध करते हुए उन्होंने अपना संबोधन समाप्त किया|

शाम 5.01: प्रधानमंत्री ने सवा चार साल में नहीं ली छुट्टी

गृहमंत्री ने प्रधानमंत्री की तारीफ़ करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने चार साल में सवा चार मिनट की भी छुट्टी नहीं ली है| आज भी हमारी चंद्र बाबु नायडू के साथ मित्रता हैं, गठबंधन टूटने के बाद भी रिश्ता पहले जैसा ही है| राजनाथ ने कहा कि आंध्र प्रदेश के विकास ले लिए सरकार प्रतिबद्ध है लेकिन विभागन के वक्त जो राजस्व का अंतर हुआ उसे भी पूरा किया जा रहा है|

शाम 4.53: 1984 में हुई घटना सबसे बड़ी मॉब लिंचिंग

गृहमंत्री राजनाथसिंह ने मॉब लिंचिंग के बारे में कहा कि यह घटनाएं नहीं होनी चाहिए और कड़ाई से इस पर कार्रवाई हो| केंद्र की जो भी मदद हो सकती है हम करने को तैयार हैं| साथ ही इसपर कानून की जरूरत हो तो वो भी बनाएंगे| देश में मॉब लिंचिंग की सबसे बड़ी घटना 1984 में हुई है| सिख समुदाय के हालत आज मैं देखता हूं और उन्हें न्याय दिलाकर ही रहेंगे| ऐसे लोग आज हमें मॉल लिंचिंग पर पाठ पढ़ा रहे हैं| बीते कोई चार साल में कोई बड़ी आतंकी घटनाएं नहीं हुई हैं| पठानकोट में हमारे जवानों ने शौर्य का प्रदर्शन किया, हम सेना और सुरक्षा के हाथ बांध कर नहीं रखते हैं| उन्होंने कहा कि संसद पर हमला करने वालों के खिलाफ सहानुभूति दिखाने वाले, कश्मीर में हिंसा की घटनाओं पर चुप रहने वाले आज हिन्दू तालिबान और हिन्दू पाकिस्तान की बात बोलते हैं| विपक्ष को भारत की परंपरा को समझना चाहिए| रावण के शैतान माना गया है लेकिन मृत्यु शैया पर उसके सम्मान की परंपरा भी भारत में रही है|

शाम 4.43 : राजनाथ सिंह का भाषण फिर से शुरू

सदन में हंगामे के कारण गृहमंत्री का भाषण स्थगित कर दिया था जिसके बाद कार्यवाही फिर शुरू हुई| राजनाथ सिंह ने कहा कांग्रेस के एक मित्र ने कहा था कि देश में कांग्रेस के कारण लोकतंत्र है लेकिन उन्हें इस बयान से पहले इतिहास को पढ़ना चाहिए था| भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती यही है कि एक चाय बेचने वाला व्यक्ति देश का प्रधानमंत्री बन गया| लोकतंत्र का गला सबसे पहले 1974 में आपातकाल लगाकर घोटा गया| उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह ने गृहमंत्री के नाते कहना चाहता हूं कि पूर्वोत्तर समेत देश के विभिन्न हिस्सा में सुरक्षा व्यवस्था बेहतर हुई है| प्रणब मुखर्जी से लेकर पंडित नेहरू तक ने भारत की धर्म निरपेक्षता का जिक्र किया है|

दोपहर 4.35: स्पीकर ने राहुल गांधी के बर्ताव पर जताई नाराजगी

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण के बाद प्रधानमंत्री से गले लगने वाला रवैया सही नहीं था| उन्होंने राहुल गांधी के इस बर्ताव पर नाराजगी जताई है| यह सदन की गरिमा के खिलाफ है और मुझे यह अच्छा नहीं लगा| उसके बाद आंख चमकाना, यह अच्छा नहीं है| सदन के बाहर मिलिए लेकिन सदन की गरिमा होनी चाहिए| राहुल जी मेरे दुश्मन नहीं बेटे जैसे हैं लेकिन मां के नाते उन्हें सिखाना भी मेरा काम है| मेरी समझ नहीं आया इसलिए इस नाटक को देखकर मैं तब चुप रही| भावनाओं का आदर करना चाहिए| सदन की गरिमा हमें ही रखनी है| वो प्रधानमंत्री के तौर पर यहां बैठे थे और पद की गरिमा होती है, वो प्रधानमंत्री महोदय हैं नरेंद्र मोदी नहीं हैं| हमें उनकी गरिमा का ध्यान रखना चाहिए|

 दोपहर 4.12: गृहमंत्री के भाषण के दौरान हंगामा

गृहमंत्री राजनाथ सिंह के भाषण के दौरान विपक्ष के नेता जमकर हगामा करने लगे, इसके बाद स्पीकर ने शांति की अपील की ,
इसके बाद कार्यवाही को 4.30 तक स्थगित कर दी गई|

दोपहर 4.00:भारत सबसे फास्टेस ग्रोथिंग कंट्री

इस प्रस्ताव के लिए विपक्ष के मन में ही विश्वास नहीं है| संसद के बड़े प्रमुख लोगों ने देश की अर्थव्यवस्था के लिए चिंता व्यक्त की| लेकिन सिर्फ हम ही नहीं बल्कि  दुनिया के बड़े बड़े वैश्विक संस्थानों का कहना है कि भारत सबसे फास्टेस ग्रोथिंग कंट्री है| हमारा भारत चार साल पहले अर्थव्यवथा में दुनिया में नौवे स्थान पर था जो अब चौथे स्थान पर आ गया है| देश की जीडीपी 7.8 तक जा सकती है| इसके लिए प्रधानमंत्री की तारीफ़ की जानी चाहिए| 2030आते आते हमारा भारत अर्थव्यवस्था के मामले में दुनिया की टॉप 3 कंट्री में आकर खडा हो जाएगा| आज हमारे सामने जो कांग्रेस के मित्र बैठे हैं उन्होंने कई वर्षों तक सरकार चलाई है, लेकिन क्या यह सच नहीं है कि पहले देश की जैसी स्थिति थी उससे कई बेहरत अब हैं| एफडीआई में 150 डॉलर इस वक्त हमारे देश में हुआ है| मोबाइल फैक्ट्री जो चार वर्ष पहले बहुत कम थी जो मात्र चार वर्ष में 120 से ज्यादा हो गई है| पहले रियल एस्टेट में जो धांधलियां होती थी, वो भी अब कम हुई है| पहले जितना पैसा लोगों को भेजा जाता था उसमे से आधा लोगों तक पहुँचता था लेकिन अब आधुनिक तकनीक के कारण पूरा पैसा लोगों तक पहुंचता है|

दोपहर 3.50: गृहमंत्री राजनाथसिंह का भाषण शुरू

राजनाथसिंह ने अपना भाषण शुरू करते हुए कहा कि विपक्ष का भी सम्मान किया जाना चाहिए, यदि विपक्ष को लगता है कि इस मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए तो यह चर्चा बहुत जरुरी हो जाती है| विपक्ष देश का विशवास अच्छे से नहीं पढ़ा पाया| हमारे प्रधानमंत्री ने भारत को देशों में नई उंचाई दिलाई हैं| हमारे देश में पहली बार किसी गैर कांग्रेसी पार्टी को पूरा बहुमत मिला है तो वह भाजपा| जिस देश के प्रधानमंत्री की अपील पर कई लोग अपनी सब्सिडी छोड़ देते हैं उनके खिलाफ कैसे कोई अविश्वास कर सकता है| जो यहां पर सीनियर सिटिजन होते हैं उन्हें एसी में मुफ्त में यात्रा मिली थी उनकी अपील के कारण ही कई सीनियर सिटिजन ने एसी में फ्री में हवाई यात्रा करना बंद कर दिया| भले ही तात्कालिक स्तर पर जनता को कष्ट उठाना पडा हो लेकिन नोटबंदी के फैसले के प्रति देश के कई राज्यों में जनता ने विश्वास दिखाया| जिन्होंने अविश्वास प्रस्ताव लाया है उन पर जनता का कितना विशवास है इस बात की भी जानकारी सभी के पास हैं| उनका ही पार्टी में एक दूसरे पर ही विश्वास नहीं है|

 

दोपहर 3.28: कांग्रेस के मोहम्मद सलीम का भाषण

भाजपा सरकार का कोई रास्ता नहीं दिख रहा है| कालाधन वापस लाने के वादे का क्या हुआ? सरकार कब कालाधन वापस लाएगी? चार साल से देश में क्या प्रगृति हुई| सरकार कहती हैं कि जो सत्तर साल में जो नहीं हुआ वह हम कर दिखायेंगे, इसी के बाद सरकार कहती है कि हम सत्तर साल कि कमी को पूरा करेंगे| सरकार ने नोटबंदी के मामले में सबसे बड़ा घोटाला किया, जिसके बारे में कोई भी आंकड़े नहीं बताए| सरकार बोल कुछ रही है, विज्ञापन में कुछ और बता रही है और कर कुछ और ही रही है| किसान की आमदनी की क्या हालत है? जो लोह खेती करते हैं जिनके पास जमीन नहीं है उन्हें नोटबंदी का सामना करना पड़ा| उन्हें सबसे ज्यादा परेशान होना पड़ा|

दोपहर 3..05: भाजपा के लोग रो रहे हैं

लोकसभा में मुलायम सिंह यादव ने कहा कि यदि सरकार किसान, नौजवानों के लिए कुछ कर दे तो ही काम हो जाए| किसान की पैदावार को दोगुना कर दें तो किसान को बहुत राहत मिलेगी| किसान को पैदावार पर घाटा हो रहा और खाद से लेकर बीज, पानी, सिंचाई सब महंगी हो गई है| उन्होंने आगे कहा कि देश में 2 करोड़ पढ़े-लिखे नौजवान बेरोजगार हैं उनके लिए कुछ करना चाहिए| हमने यूपी में यह करते दिखाया वहां युवाओं को नौकरी देने का काम किया| अब यूपी की सरकार में भाजपा के लोग ही दुखी है वह किसी की भी नहीं सुन रही है| यूपी में भाजपा पी के लोग ही रो रहे हैं अकेले में आपको नाम भी गिना सकता हूं| उन्होंने कहा कि हम तो चलो विपक्ष में हैं लेकिन योगी सरकार अपनी पार्टी के लोगों की ही नहीं सुन रही है|

राहुल गांधी के भाषण के संबंध में भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी गले मिल रहे हैं या गले पड़ रहे हैं|

भाजपा ने राफेल डील का जवाब देते हुए इंडिया टुडे का इंटरव्यू ट्वीट किया –

दोपहर 2.18: सदम में हंगामा, स्पीकर की शांति की अपील

सदन में फिर से हंगामा शुरू हो गया| स्पीकर की अपील के बाद भी सभी हंगामा करने लगे इसके बाद रक्षा मंत्री ने कहा कि हम करार को सार्वजानिक नहीं कर सकते हैं इसीलिए उसे सबके सामने पेश नहीं किया गया|

दोपहर 2.06: रक्षा मंत्री का भाषण शुरू

रक्षा मंत्री सीता रमण ने स्पीकर को धन्यवाद करके अपना भाषण शुरू किया| उन्होंने राहुल गांधी के दौरान उठाए गए  सवाल का जवाब देते हुए एक एग्रीमेंट शो किया| इसके बाद उन्होंने एयरक्राफ्ट को खरीदने का एग्रीमेंट पढ़कर सुनाया| राफेल पर एंटनी की डील को आगे बढ़ाया|जिस पर रक्षा मंत्री ए के एंथोनी के हस्ताक्षर थे| मेरा नाम लिया गया मुझ पर सवाल उठाये गए इसीलिए मैं जवाब दूंगी| रक्षा मंत्री के भाषण के दौरान हंगामा शुरू हो गया| रक्षा मंत्री ने इंडिया टुडे के इंटरव्यू का हवाला दिया| इसके बाद फिर से हंगामा शुरू हो गया|

दोपहर 1.56 सदन में फिर हंगामा

राहुल गांधी ने पीएम से सवाल किया कि उनके दिल में जो हैं वो देश को बताए| देश को बताए की क्यूँ वे शांत हैं| जब भी किसी न किसी को मारा जाता है, दबाया जाता है या कुचला जाता है तो वह लोगों पर हमला नहीं बल्कि बाबा साहब पर उनके संविधान पर और पूरे हिंदुस्तान पर आक्रमण हो रहा है| यह हम नहीं सहेंगे| पीएम और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बहुत ही अलग तरह के राजनीतिज्ञ है| वे डर में जी रहे हैं, उनका डर गुस्से में बदल जाता है, वे दोनों सत्ता के बिना नहीं रह सकते हैं| वे गुस्से में हर आवाज को कुचलने की साजिश रचते हैं| भाजपा के ही सांसद ने मुझे अच्छा बोलने पर बढ़ाई दी| अन्य दल के नेता मुझे देख के मुस्कुरा रहे थे| हम सब मिलकर अब पीएम को हारने जा रहे हैं| राहुल गांधी ने स्पीकर से कहा, “आप सोचोंगे की मेरे दिल में पीएम के खिलाफ बहुत गुस्सा हैं लेकिन मैं कहना चाहता हूँ कि भाजपा और आरएसएस ने ही मुझे असली कांग्रेस का मतलब सिखाया है| मैं संघ और भाजपा का आभारी हूँ| आपके अंदर मेरे लिए गुस्सा है मैं पप्पू हूँ लेकिन मेरे अंदर किसी के लिए कोई गुस्सा नहीं है| ये कांग्रेस है मैं आप सबको कांग्रेस में बदलूंगा और आपके अंदर से प्यार निकालूँगा, इसी के साथ राहुल गांधी ने अपना भाषण ख़त्म किया|

दोपहर 1.54: राहुल गांधी का भाषण

फिर शुरू हुआ राहुल गांधी ने कहा कि सच्चाई से मत डरो, हरियाणा, उत्तरप्रदेश और सभी जगह के किसानों को मई बताना चाहता हूँ एमएसपी का जूमला स्ट्राइक है| बाहर देशों में यह बात फैलती जा रही है कि भारत में महिलाएं ही सुरक्षित नहीं है| पहली बार हिन्दुस्तान के इतिहास में ऐसा हो रहा है| इसके पहले ऐसा कभी नहीं हुआ है| महिलाओं पर अत्याचार, दलितों, माइनोरिटी पर अत्याचार हो रहा है, लोग मारे जा रहे हैं फिर भी प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द भी नहीं निकल रहा है| उलटा उनके मंत्री जाकर उन पर हार डालते हैं| ( इस दौरान सदन में फिर हंगामा शुरू हो जाता है और स्पीकर सभी से शांत रहने की अपील करती हैं) पीएम से सवाल है कि वे कब तक शांत रहेंगे|

दोपहर 1.45: सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई

लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सभी दलों को नियमों के बारे में समझाया| स्पीकर ने कहा कि मैं इस बहस को अच्छे से होने देना चाहती हूँ| आप किसी पर भी सीधे आरोप नहीं लगा सकते हैं| जब हम बोलते हैं तो सामने वालों को भी बोलने का मौक़ा दिया जाएगा| यदि आरोप तुरंत रक्षा मंत्री पर लग रहे हैं तो उन्हें रक्षा मंत्री को तुरंत बोलने का मौक़ा दिया जाएगा, लेकिन यदि किसी कारण से उन्हें नहीं बोलने दिया जाता तो रक्षा मंत्री को बाद में भी बोलने का मौक़ा दिया जाता | ऐसे ही बाकी सब के लिए भी है| यहाँ यदि कोई गलत आरोप लगाया जाएगा तो उसके खिलाफ भी बोलने का मौक़ा दिया जाएगा| स्पीकर ने सबसे अपील की कि सभी अपनी भाषा पर नियंत्रण रखें और यहां का डेकोरम भी मेंटेन रखें| यही मेरा निवेदन है| इसके बाद फिर से राहुल गांधी का भाषण शुरू हुआ|

दोपहर 1.35: सदन स्थगित

राहुल गांधी के भाषण के दौरान लगातार हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही को 1.45 बजे तक स्थगित कर दिया|

दोपहर 1.20: राहुल ने रक्षा मंत्री पर लगाया आरोप

राहुल गांधी ने कहा कि रक्षा मंत्री सीता रमण ने देश से झूठ बोला, इसी बीच सांसद में फिर से हंगामा हो गया| बार-बार पक्ष और विपक्ष की बातें सुनकर लोकसभा स्पीकर ने सब से शांति बनाए रखने की अपील की| इसके बाद फिर से राहुल गांधी का भाषण शुरू हो गया| पीएम और कारोबारियों के रिश्ते से सभी वाकिफ हैं| रफेल डील एचएएल से क्यों ली पीएम जवाब दें| प्रधानमंत्री मेरी आँख में आँख नही डाल सकते| मोदी चौकीदार नहीं भागिदार हैं| बिना एजेंडा की बात करते हैं पीएम| किसान कहता है आपने उद्योगपतियों का कर्जा माफ़ किया थोडा हमारा भी कर दिया| पूरी दुनिया में पेट्रोल के दाम निचे गिर रहे हैं और भारत में उपर उठ रहे हैं| तभी सदन में हंगामा शुरू हो गया और राहुल की स्पीच बीच में रोकी गई| स्पीकर ने सभी से शांत रहने का निवेदन किया, इसके बावजूद सदन में हंगामा होता रहा| तभी भाजपा ने मांग की कि पार्टी पर लगाये गए आरोपों के सबूत पेश करें राहुल|

दोपहर 1.12: हंसते रहे पीएम

राहुल गांधी के भाषण के दौरान उनके द्वारा लगाए गए आरोपों को सुनकर पीएम मोदी हँसते रहे|राहुल गांधी ने आगे कहा कि भाजपा ने जेब में हाथ डालकर कारोबारियों से पैसा निकाल लिया| कई बड़े कारोबारियों से संपर्क करके देश को चुना लगा रहे हैं| पीएम ने कहा था कि मैं देश का चौकीदार हूँ, लेकिन क्या हुआ देश की सुरक्षा का?

दोपहर 1.08:

राहुल गांधी ने टीडीपी सांसद गल्ला को संबोधित करते हुए कहा कि आप आज राजनीतिक हथियार के शिकार है जिसे जुमला स्ट्राइल कहा जाता है| भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा बेरोजगारी मिटाने के लिए नए नर पैतरे लेकर आती है| कभी बोलते हैं पकोड़ा तलों कभी कुछ और कभी कुछ, लेकिन क्या हुआ 2 करोड़ बेरोजगार युवाओं का? क्या सभी को रोजगार मिल गया? कहीं से मैसे मिला की नोट बंद कर दो तो  अचानक रात के 8 बजे प्रधानमंत्रीजी नोटबंदी की घोषणा कर देते हैं| मोदीजी के वादे का क्या हुआ?

दोपहर 1.06: राहुल गांधी का भाषण शुरू

राहुल गांधी का भाषण शुरू होते ही सदन में हल्ला शुरू हो गया, जिसे लोकसभा अध्यक्ष ने शांत कराया| सदन ने आवाज गूंजने लगी की हिंदी में भी कहिये| इसके बाद राहुल ने बोलना शुरू किया|

दोपहर 12.47: लोकसभा हंगामा

भाजपा सांसद के भाषण के बाद लोकसभा में हंगामा शुरू हो गया| इसके बाद भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि यदि कांग्रेस ने अभी बोलने का मौक़ा नहीं दिया तो इसके बाद राहुल गांधी भी सदन में बोल नहीं पाएंगे| कांग्रेस विकास की बाते सुनना नहीं चाहती है |

दोपहर 12.41सरकार का उद्देश्य देश का विकास महिलाओं का सम्मान…

भाजपा सांसद राकेश सिंह ने आगे कहा कि भाजपा सरकार का उद्देश्य है कि देश का विकास हो, जिसमें महिलाओं का सम्मान, गरीबों का कल्याण जुदा हुआ है| आज सकारात्मक बदलाव की वजह से ही देश के 19 राज्यों में भाजपा की सरकार हैं| मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी भाजपा सरकार का विकास हुआ है|

दोपहर 2.29: भाजपा ने बढ़ाया गौरव

राकेश सिंह ने आगे कहा कि किसी एक राज्य की मांग के सामने पूरे देश के हितों के बलिदान नहीं किया जा सकता| पीएम मोदी के नेतृत्व में दुनियाभर में देश का गौरव बढ़ रहा है| डोकलाम में चीनी सेना भी पीछे हटी और सर्जिकल स्ट्राइक जैसी घटनाओं से देश का मनोबल ऊंचा हुआ है| इसके बाद भी कांग्रेस को देश की प्रगृति नहीं दिखाई दे रही है| अमरीका का राष्ट्रपति आज पीएम मोदी की अगुवाई के लिए प्रोटोकॉल तोड़ता है इससे भी कुछ लोग कुंठित हैं|

दोपहर 12.25: कांग्रेस दागदार सरकार

भाजपा सांसद ने आगे कहा कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व बेल पर केंद्रीय मंत्री जेल पर थे| कांग्रेस ने ही देश को दागदार किया है| वहीं प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश में साफ-सुथरी सरकार मिली है| अब गरीबों का कल्याण हो रहा है| 2022 तक हर गरीब को छत मिलने का भी पीएम कर चुके हैं|

दोपहर 12.22 : कांग्रेस घोटालों की सरकार

राकेश सिंह ने कांग्रेस के खिलाफ कहा कि कांग्रेस ने घोटालों की सरकार दी जिससे भारत का सिर दुनिया के सामने झुका है| 70 साल में गरीबी हटाओ के नारे लगे लेकिन देश की गरीब जनता को मुख्यधारा से हटना पड़ा| राकेश ने कहा कि कांग्रेस के ऐसे हुनक का पालन किसी भी दल को नहीं करना चाहिए|

दोपहर 12.09 : भाजपा सांसद राकेश सिंह का संबोधन शुरू

सांसद राकेश सिंह ने प्रस्ताव के खिलाफ बोलते हुए कहा कि कांग्रेस के साथ जाकर टीडीपी शापित हो गई है वह क्या बीजेपी को श्राप देगी| उन्होंने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस के साथ देकर कुमारस्वामी आंसू बहा रहे हैं और अब इस प्रस्ताव का साथ देकर भी कई दलों को रोना पड़ेगा|

सुबह 12.06 : स्पीकर की गल्ला से अपील

स्पीकर ने गल्ला को संबोधन खत्म करने के लिए कहा, इसके बाद टीडीपी सांसदों ने की सीट से खड़े होकर नारेबाजी करने लगे|

सुबह 11.51: राजधानी से ज्यादा खर्च मूर्तियों पर किया

टीडीपी सांसद ने कहा, “आंध्रप्रदेश में परियोजनाओं के लिए जितने पैसे का ऐलान किया गया था, उतना पैसा कभी नहीं दिया गया| पिछड़े इलाकों के लिए दिए जाने वाले पैकेज तक में कटौती की गई| पूरे फंड का सिर्फ 2-3 फीसद हिस्सा ही दिया गया, क्या इसे वादा पूरा करना कहते हैं|

सुबह 11.45 : तय समय से ज्यादा बोले गल्ला

विपक्षी दलों ने जयदेव गल्ला के बोलने पर आपत्ति जताई है| उनका कहना है कि गल्ला तय समय से ज्यादा बोल रहे हैं|

सुबह 11.38 :  वादों को पूरा नहीं किया

जयदेव गल्ला ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा, “आपने आंध्र के साथ किए गए वादों को पूरा नहीं किया, पीएम भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं, लेकिन कर्नाटक चुनाव में जनार्दन रेड्डी और उनके लोगों को टिकट क्यों दिया गया|” आंध्र को संसाधन नहीं दिए गए, जिनकी ज़रूरत राज्य की जनता को थी|”

सुबह 11.27 : टीआरएस ने गल्ला के बयान पर जताई आपत्ति

जयदेव गल्ला ने कहा कि था कि आज आंध्र प्रदेश असफल है जबकि तेलंगाना को ज्यादा राजस्व दिया जा रहा है, बंटवारे के बाद हमारे साथ न्याय नहीं हुआ| आज वादों और नैतिकता की लड़ाई है| उन्होंने आगे कहा कि 4 कारणों से यह अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है| इसमें विश्वास की कमी, भेदभाव, प्राथमिकता की कमी की वजह से मोदी सरकार के खिलाफ यह प्रस्ताव लाया गया है| आंध्र की 5 करोड़ जनता के साथ धोखा किया गया| टीआरएस ने गल्ला के इस बयान पर आपत्ति जताई है|

सुबह 11.12 : चर्चा की शुरुआत की

टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत की, उन्होंने सबसे पहले प्रस्ताव पर पार्टी का समर्थन करने वाले दलों का आभार जताया और कहा कि पहली बार सांसद बनने के साथ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरु करना मेरे लिए गौरव की बात है| इसके बाद उन्होंने पीएम मोदी को संबोधित किया और सवाल किया कि क्या आपके वादों में कोई ताकत है? सदन के पटल पर कहे गए शब्दों की आपके लिए कोई अहमियत है?

सरकार के खिलाफ प्रस्ताव में शिवसेना हटी पीछे

मोदी सरकार के खिलाफ पेश किए जा रहे अविश्वास प्रस्ताव के लिए शिवसेना पीछे हट गई है| आज शिवसेना वोट नहीं करेगी| वहीं भाजपा की ओर से राजनाथसिंह, राकेशसिंह, वीरेंद्रसिंह मस्त और अर्जुनराम मेघवाल लोकसभा में बहस में हिस्सा लेंगे|

सुबह 11.08: समय न मिलने के कारण बीजेडी का वॉकआउट

नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस सहित अन्य दलों को बोलने के लिए दिए गए तय वक्त पर आपत्ति जताई| उन्होंने कहा कि 5 घंटे में सभी विपक्षी दलों के सांसदों का बोल पाना संभव नहीं है| इसी के बाद नाराज़ होकर लोकसभा से बीजेडी ने वॉकआउट कर लिया|

सुबह 11.01: लोकसभा की कार्यवाही की गई|

पीएम का ट्वीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ट्वीट किया, “आज हमारे संसदीय लोकतंत्र में एक महत्वपूर्ण दिन है| मुझे यकीन है कि मेरे साथी सांसद सहयोगी इस अवसर पर उभरेंगे और एक रचनात्मक, व्यापक और व्यवधान मुक्त बहस सुनिश्चित करेंगे| हम लोगों और हमारे संविधान के निर्माताओं को इसका श्रेय देते हैं| भारत हमें बारीकी से देखेगा|”

Share.