मुख्यमंत्री को रोकने के लिए नेता प्रतिपक्ष की मांग

0

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री अभी भी प्रदेश में मनमानी कर रहे हैं। जनता का आदेश अभी सार्वजनिक नहीं हुआ है, लेकिन मुख्यमंत्री अभी भी अपने निजी हितों की फाइलें निपटा रहे हैं। ये आरोप नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान पर लगाए हैं।

नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने राज्यपाल एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मांग की है कि वे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा नए जनादेश के पहले जो असंवैधानिक कार्य किए जा रहे हैं, उन पर रोक लगाएं। मुख्यमंत्री द्वारा आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया जा रहा है, जिसके लिए उन पर कार्रवाई भी करें।

नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री नए जनादेश के पहले ही बड़ी संख्या में स्वहित की फाइलें निपटा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यही नहीं बल्कि अधिकारियों की बैठक के बाद अब वे 5 तारीख को मंत्रीमंडल की बैठक भी करने जा रहे हैं। सिंह ने राज्यपाल एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से आग्रह किया है कि वे खुलेआम आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के साथ ही असंवैधानिक रूप से शासन का कार्य संचालन कर फाइलों का निराकरण और मंत्रीमंडल जैसी महत्वपूर्ण बैठक करने जा रहे हैं, उस पर उन्हें निर्देशित करें। सिंह ने कहा कि नए जनादेश के लिए मात्र आठ दिन शेष हैं, ऐसे में ऐसी कौन सी आपातकालीन परिस्थिति या ऐसा कौन सा काम है, जो वे 15 साल में नहीं कर पाए और इन आठ दिनों में करना ज़रूरी है ?

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री प्रजातंत्र की मान-मर्यादाओं के साथ ही आदर्श आचार संहिता की भी धज्जियां उड़ा रहे हैं। सिंह ने कहा कि जब प्रदेश का मुखिया निरंकुश और असंवैधानिक कृत्य करने पर उतर आए तो राज्यपाल एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की यह जवाबदारी है कि वे उस पर अंकुश लगाएं।

Share.