सड़क पर अन्नदाता, सीएम ने भेजा बातचीत का न्योता

0

अपनी मांगों को लेकर लगभग 20 हजार अन्नदाता आज फिर सड़क पर हैं| उनका सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी है| किसान सूखे के लिए मुआवजे और आदिवासियों को वन्य अधिकार दिलाने के लिए यह मार्च निकाल रहे हैं| दो दिनी यह प्रदर्शन बुधवार से शुरू हुआ, वहीं गुरुवार को किसान मुंबई के आज़ाद मैदान में एकत्रित हो गए| ‘किसान और आदिवासी लोक संघर्ष समिति’ के बैनर तले किसान प्रदर्शन कर रहे हैं|

सभी किसान सुबह 4.30 बजे से चूनाभट्टी के सोमैया मैदान से आज़ाद नगर के लिए रवाना हो गए थे| इस बीच महाराष्ट्र सरकार के मंत्री गिरीश महाजन ने किसान नेताओं को सरकार से बात करने को कहा| किसान स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के साथ ही एमएसपी पर कानून लाने जैसी कई मांगें कर रहे हैं|

बातचीत के लिए सीएम तैयार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किसानों के प्रतिनिधिमंडल को बातचीत के लिए बुलाया है| इस संबंध में विधानसभा के प्रतिनिधिमंडल से मुख्यमंत्री ने मुलाकात की| वहीं स्वराज अभियान के मुखिया और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेंद्र यादव और संरक्षणवादी डॉ.राजेंद्र सिंह इस किसान मार्च का नेतृत्व कर रहे हैं| किसान मार्च को देखते हुए सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल को मोर्चे के साथ तैनात किया गया है| 6 महीने पहले भी अपनी मांगों को लेकर किसानों ने मोर्चा निकाला था| तब सरकार ने उनकी मांगें मानते हुए छह महीने का समय मांगा था, लेकिन इस संबंध में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है| कहा जा रहा है कि अब सरकार उनकी कुछ मांगों को मान सकती है|

किसान क्रांति पदयात्रा: राजधानी में किसानों की नो एंट्री, बढ़ाई सुरक्षा

किसानों के लिए 6 मंत्रियों की समिति बनाई

सड़क पर उतरे 30 हजार किसान

Share.