किसानों ने कहा, सरकार के पास अंतिम मौका

0

किसान आंदोलन लगातार 38 वें दिन भी जारी है. किसान अपनी मांगों को लेकर सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर पर डटे हुए है. किसान और सरकार के बीच सातवें दौर की बातचीत में दो मुद्दों पर सहमति बन गई. किसानों और सरकार के बीच अब 4 जनवरी को अगली बैठक है. इस पर किसानों का कहना है कि यदि 4 तारीख को हल नहीं निकला तो नेशनल हाईवे सील कर दिए जाएंगे जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी. सरकार की ओर से कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि उन्हें भरोसा है कि 4 जनवरी को सकारात्मक नतीजे आएंगे.


वहीं कृषि कानूनों के खिलाफ गाजियाबाद में दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के धरने में शामिल एक किसान ने धरनास्थल पर शौचालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि किसानों की जरूरत और उनकी इच्छा का ध्यान रखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा है कि सरकार को ये कानून लंबित रखते हुए पुनर्विचार के लिए सहमत हो जाना चाहिए.

Share.