आईपीएस सुरेंद्र दास ने तोड़ा दम

0

जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश करने वाले आईपीएस सुरेंद्र कुमार दास ने दम तोड़ दिया। बुधवार से सर्वोदय नगर स्थित रीजेंसी अस्पताल में उनका इलाज़ चल रहा था। सुरेंद्र कुमार की मौत की खबर मिलते ही पुलिस विभाग में शोक की लहर फैल गई। पुलिस लाइन में गार्ड ऑफ ऑनर के बाद सुरेंद्र कुमार के शव को लखनऊ लाया गया। सोमवार को उनका लखनऊ में अंतिम संस्कार होगा।

2014 बैच के आईपीएस थे

2014 बैच के आईपीएस सुरेंद्र कुमार दास बलिया जिले के रहने वाले थे। सुरेंद्र ने बीते बुधवार की रात ज़हर खाया था। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें रीजेंसी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। डॉक्टरों ने उनके इलाज़ के लिए मुंबई से विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम को बुलाया था। डॉक्टरों का पेनल लगातार उनके उपचार में लगा था। डॉक्टरों ने उन्हें ईसीएमओ मशीन पर रखा था। सुरेंद्र का ब्रेन, किडनी, लीवर डैमेज हो गया था और बाएं पैर में खून के थक्के जम गए थे। डॉक्टरों ने उनके पैर का ऑपरेशन कर खून के थक्के हटाए थे। इसके बाद भी उनके शरीर में रक्त संचार नहीं हो रहा था।

परिवारिक कलह में उठाया कदम

आईपीएस सुरेंद्र कुमार अपनी शादीशुदा ज़िंदगी से काफी परेशान थे। उन्होंने सुसाइड नोट में पारिवारिक कलह, पत्नी डॉ.रवीना से छोटी-छोटी बातों पर झगड़े का जिक्र किया है। सात लाइन के पत्र में अंग्रेजी और हिंदी में लिखा है। उन्होंने अंग्रेजी में लिखा है कि एक हफ्ते से वे खुदकुशी का आसान तरीका गूगल पर सर्च कर रहे थे। इसके बाद ब्लेड से शरीर की नस काटकर और जहर खाकर आत्महत्या के तरीके को चुना। नस काटकर आत्महत्या करना काफी दर्द भरा था इसलिए ज़हर खाकर आत्महत्या करने का फैसला लिया।

भाई ने लगाया आरोप

आईपीएस सुरेंद्रदास की आत्महत्या के बाद उनके बड़े भाई नरेंद्रदास ने उनकी पत्नी डॉ.रवीना को मौत का जिम्मेदार बताया है। नरेंद्र ने कहा कि दोनों की शादी मेट्रीमोनियल साइट के जरिये हुई थी। दोनों की शादी 9 अप्रैल 2017 में हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों के बीच विवाद होने लगा था। उन्होंने कहा कि सुरेंद्र अपने परिवार के साथ रहने चाहते थे, लेकिन उनकी पत्नी डॉ.रवीना को यह पसंद नहीं था। रवीना सुरेंद्र को परिवार से अलग रहने का दबाव बना रही थीं। नरेंद्र ने कहा कि दो महीने से उनकी अपने भाई से बात भी नहीं हुई थी। यहां तक कि डॉ.रवीना सुरेंद्रदास को उनकी मां से भी बात नहीं करने देती थीं। नरेंद्र दास ने रवीना और उनके परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने की बात कही है।

कानपुर: एसपी सिटी ने की आत्महत्या की कोशिश

Share.