कमलनाथ : सीएम पद की भूख नहीं

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश की राजनीति में कुछ बदलाव किए हैं| पार्टी के नेता कमलनाथ को गुरुवार को मध्यप्रदेश का अध्यक्ष नियुक्त किया गया, जिसके बाद पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव पार्टी से कुछ खीझे नजर आ रहे हैं| प्रदेशाध्यक्ष बनने के बाद कमलनाथ ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री बनने की भूख नहीं है, वे बस प्रदेश में लोगों को भाजपा के दलदल से बाहर निकालना चाहते हैं|

कमलनाथ ने एक साक्षात्कार में कहा, “मैं मुख्यमंत्री पद या किसी अन्य पद का भूखा नहीं हूं| मैं बीजेपी सरकार के दलदल से राज्य को बाहर निकालने का भूखा हूं|” इसके बाद जब उनसे पूछा गया कि उन्हें मध्यप्रदेश के भविष्य के मुख्यमंत्री के रूप में देखा जाना चाहिए तो उन्होंने सवाल को घुमाते हुए जवाब दिया कि आप कांग्रेस पार्टी के साथ मध्यप्रदेश के भविष्य को देख रहे हैं|

उन्होंने आगे कहा, “मेरा नाम पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह, पार्टी के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और मध्यप्रदेश के नेताओं के साथ व्यापक चर्चा के बाद चुना गया है| राहुल गांधी ने एक महीने पहले इसका संकेत दे दिया था|”

कमलनाथ के कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष चुनते ही कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने मीडिया के सामने नाराजगी जताते हुए कहा कि उन्हें दोपहर 12:00 बजे प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की खबर मिली| उन्होंने घोषणा की कि वे लोकसभा और विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे और संगठन में काम करते रहेंगे|

Share.