मप्र में भी बने एनआरसी – कैलाश विजयवर्गीय

0

देश में इन दिनों राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर जमकर विरोध चल रहा है। अब मध्यप्रदेश में भी असम की तर्ज पर एनआरसी की मांग होने लगी है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी मध्यप्रदेश में एनआरसी लागू करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि असम की तर्ज पर मप्र में भी एनआरसी बनाया जाए और घुसपैठियों को यहां से खदेड़ा जाए।

उन्होंने कहा कि ये उनके निजी विचार है। नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए तैयार किए जा रहे भाजपा के घोषणा-पत्र में भी शामिल किया जाना चाहिए। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मुझे इंदौर में एक मुस्लिम युवक ने बताया कि एक बस्ती में चार-पांच हजार बांग्लादेशी रहते हैं, जो मकान बनाने जैसे काम करते हैं। इसके कारण देश में रोजगार के अवसरों और संसाधनों पर अनावश्यक दबाव पड़ रहा है। आने वाले समय में इससे देश की आंतरिक सुरक्षा को गंभीर खतरा हो सकता है। मैं इस बारे में जांच के लिए शहर के आला अधिकारियों से चर्चा करूंगा।

उन्होंने दावा किया कि अकेले पश्चिम बंगाल में करीब दो करोड़ बांग्लादेशी अवैध तौर पर प्रवास कर रहे हैं। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि एनआरसी का मामला हिंदू-मुसलमान का नहीं, बल्कि देश के मूल निवासियों के बुनियादी अधिकारों के हनन का है। कांग्रेस को देश की नहीं, बल्कि अपने वोट बैंक की चिंता है। उन्होंने आगे कहा कि जो पार्टियां एनआरसी के पक्ष में खड़ी नहीं हो रही हैं, मैं उन्हें देशद्रोही तो नहीं कहूंगा, लेकिन मैं इन दलों को देश के प्रति गैर जवाबदार ज़रूर कहूंगा।

यह खबर भी पढ़े- भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व की ओर विजयवर्गीय

यह खबर भी पढ़े- दिग्गी बोले – भाजपा में कैलाश की हालत ख़राब

यह खबर भी पढ़े- एनआरसी मुद्दे पर दिग्विजय का बड़ा बयान

Share.