भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व की ओर विजयवर्गीय

0

भाजपा के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय हो सकते हैं| एक सांध्य दैनिक अखबार ने खबर प्रकाशित कर यह दावा किया है| संघ के वरिष्ठ सदस्यों की महत्वपूर्ण बैठक के बाद इस तरह के संकेत मिले हैं| भाजपा के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष का चयन नरेंद्र मोदी और अमित शाह ही करेंगे, इसके लिए संघ ने उन्हें हरी झंडी दे दी है|

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारकों की अत्यंत महत्वपूर्ण बैठक के निष्कर्ष केशव कुंज ने नरेंद्र मोदी और अमित शाह को बता दिए हैं। इन्हीं निष्कर्षों के आधार पर यह तय हुआ है कि अमित शाह के उत्तराधिकारी कैलाश विजयवर्गीय होंगे।

भाजपा के संविधान के अनुसार राष्ट्रीय अध्यक्ष को दो कार्यकाल मिलते हैं। अमित शाह अपने पांच वर्ष दिसंबर 2019 में पूर्ण कर लेंगे। सूत्रों के अनुसार पूर्वी क्षेत्र और पूर्वोत्तर को मॉनिटर करने वाले सह सरकार्यवाह दत्तात्रय होसबोले की रिपोर्ट के बाद संघ ने अमित शाह की इस मंशा को हरी झंडी दे दी है कि उनका उत्तराधिकारी मोदी और शाह की जोड़ी तय करेगी।

अमित शाह ने कैलाश विजयवर्गीय के बढ़ते कद के संदर्भ में राजनीतिक हल्कों में साफ संकेत दे दिए हैं। शाह ने सह सरकार्यवाह दत्तात्रय होसबोले, सुरेश सोनी और डॉ. कृष्णगोपाल की सिफारिश को मानते हुए अपना वार रूम भोपाल को न बनाते हुए इंदौर को बनाने का फैसला किया है। इसके पीछे के संकेत साफ है कि अपने महासचिवों में वे कैलाश विजयवर्गीय पर सर्वाधिक भरोसा करते हैं। पहले मप्र का वार रूम सांसद मेघराज जैन के अधिकारिक निवास पर बनने वाला था जो अब इंदौर में देवास बायपास पर उस स्थान पर बनेगा, जहां से सुपर कॉरिडोर और भोपाल का सड़क मार्ग सीधा जुड़ता है। सूत्रों के अनुसार विजयवर्गीय के सबसे बड़े लेफ्टिनेंट रमेश मेंदोला ने उस जगह का चयन भी कर लिया है, जहां वार रूम बनेगा।

सूत्रों के अनुसार पूर्वोत्तर और पूर्वी क्षेत्र को मॉनीटर कर रहे अद्वितीय संगठन क्षमता के धनी उल्लास कुलकर्णी की ग्राउण्ड रिपोर्ट के आधार पर केशवकुंज ने यह फैसला किया है। संघ परिवार में केशवकुंज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी यानि सरकार्यवाह का पदेन स्थाई केंद्र रहता है।

प्रदेश में पोलिटिकल मैनेजमेंट के ट्रेंड सेटर

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पोलिटिकल मैनेजमेंट के संदर्भ में प्रदेश में ट्रेंड सेटर बने कैलाश विजयवर्गीय को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने कोर ग्रुप में पिछले माह ही शामिल किया था। कैलाश विजयवर्गीय के पास भाजपा संसदीय दल और संगठन के बीच समन्वय का काम पहले से ही है, वे भाजपा की राष्ट्रीय चयन समिति के भी स्थाई सदस्य होने के अलावा संसदीय बोर्ड के भी सदस्य होने वाले हैं। शाह इसकी घोषणा केशव कुंज में इसी माह होने वाली समन्वय बैठक के बाद करेंगे।

Share.