website counter widget

जेपी नड्डा बने बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष

0

अमित शाह (amit shah) के गृहमंत्री बनजाने के बाद से ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष को लेकर अटकलें तेज़ हो गई थी| अब पार्टी के सीनियर नेता जेपी नड्डा (JP Nadda Appointed Working BJP President ) को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है| बीजेपी के मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद अध्यक्ष कि जिम्मेदारी को लेकर कई तरह की बातें की जा रही थी| इससे पहले मोदी सरकार में नड्डा को मंत्री दिया गया था |

इस बार 57 नेताओं वाली मंत्रिपरिषद की लिस्ट में उनका नम नहीं था|रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार देर शाम जेपी नड्डा को बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष बनाने की घोषणा की| नड्डा अगले छह महीने तक पार्टी अध्यक्ष की कमान संभालेंगे| इस दौरान दिल्ली, हरियाणा समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं| अमित शाह के साथ मिलकर ही जेपी नड्डा पार्टी का कामकाज देखेंगे इसके बाद ही संगठन के चुनाव के दौरान उनके भविष्य का फैसला भी किया जायेगा| फ़िलहाल बीजेपी संगठन चुनावों को टालने के मूड में है|


बीजेपी संसदीय बोर्ड में सोमवार को नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष (JP Nadda Appointed Working BJP President ) बनाने का फैसला हुआ| इस मीटिंग में राजनाथ ने कहा कि मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में बीजेपी ने कई चुनाव जीते हैं| लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत भी हासिल किया| लेकिन अब जबकि अमित शाह को मोदी कैबिनेट में गृह मंत्री की जिम्मेदारी  गई है, ऐसे में उन पर अतिरिक्त बोझ नहीं डाला जाना चाहिए| पार्टी के अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी और को मिलनी चाहिए|

राजनाथ सिंह ने ऐलान किया कि बीजेपी संसदीय बोर्ड ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष चुना है| जहां तक नड्डा की बात है, हिमाचल प्रदेश के लो-प्रोफाइल नेता से साल 2014 के चुनाव के बाद केंद्र की मोदी सरकार में पहली बार बड़ा पद पाने वाले दिग्गज नेता फ़िलहाल 58 साल के है और मोदी और अमित शाह दोनों के काफी करीबी हैं| नड्डा के बारे में ऐसा कहा जाता है कि उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का समर्थन भी हासिल है|

नड्डा अब तक –

हिमाचल प्रदेश के एक ब्राह्मण परिवार से आने वाले जेपी नड्डा पार्टी के बड़े नेताओं में गिने जाते हैं|
बीजेपी की राष्ट्रीय टीम में नड्डा को लाने का श्रेय नितिन गडकरी को है |
2010 में बतौर अध्यक्ष गडकरी ने नड्डा को राष्ट्रीय टीम में अहम जिम्मेदारी दी |
बीजेपी संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाया गया, जो कि पार्टी में फैसले लेने वाली सबसे बड़ा संगठन है|
2019 के चुनाव के लिए नड्डा को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया |
बीजेपी ने राज्य में 62 सीटें जीती और प्रचंड बहुमत हासिल किया
आरएसएस मैन कहे जाने वाले जेपी नड्डा में बेहतरीन तरीके से संगठन चलाना जानते हैं|
2014 में नड्डा तत्कालीन पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह को रिप्लेस करने वाले थे, राजनाथ सिंह की भी यही इच्छा थी|
लेकिन बाद में बीजेपी संसदीय बोर्ड ने नड्डा की जगह अमित शाह को पार्टी की कमान सौंप दी|
. 2014 के मोदी कैबिनेट में उन्हें जगह मिली|
चुनाव प्रबंधन की रणनीति में माहिर है|
नड्डा ने यूपी में पार्टी को 49.6 फीसदी वोट दिलाने का कारनामा कर दिखाया|

कार्यकारी अध्यक्ष बनने के साथ ही जेपी नड्डा के सामने चुनौतियां हैं-
अगले तीन महीनों के बाद महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने है|
राज्यों में बीजेपी की सरकार है|
साल के आखिर तक जम्मू-कश्मीर में भी विधानसभा चुनाव है|
इसके साथ ही 7 महीने बाद दिल्ली का विधानसभा चुनाव है, जिसमें जीत हासिल कर नड्डा खुद को साबित करना जरूर चाहेंगे|

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.