निजी कारणों का दिया हवाला

0

आम आदमी पार्टी में लगातार इस्तीफे  का दौर जारी है। आशुतोष के बाद एक और पत्रकार आशीष खेतान ने भी आम आदमी पार्टी (आप) से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि आशीष ने निजी कारणों का हवाला देते हुए पार्टी से इस्तीफा दिया है। खुद आशीष खेतान के अनुसार, इस समय वे अपना पूरा ध्यान वकालत पर लगा रहे हैं, इसी वजह से राजनीति से दूरी बना रहे हैं। आशीष ने पार्टी मुखिया अरविन्द केजरीवाल को 15 अगस्त को ई-मेल से निजी कारणों का हवाला देते हुए इस्तीफा भेजा है।

पार्टी के थिंक टैंक माने जाने वाले आशुतोष के पिछले हफ्ते पार्टी से इस्तीफा देने के बाद अब आशीष खेतान ने भी पार्टी छोड़ दी है।  हालांकि केजरीवाल के द्वारा अभी उन्हें मनाने की कोशिश जारी है। सूत्रों से मिली इस्तीफे की खबरों को माने तो खेतान नई दिल्ली लोकसभा सीट से दोबारा चुनाव लड़ना चाहते हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी किसी नए चेहरे को मौका देना चाहती है।

आशीष खेतान ने बुधवार सुबह ट्वीट कर जानकारी दी कि  “मैं अपना पूरा ध्यान वकालत प्रैक्टिस पर लगा रहा हूं. इसलिए अभी के लिए सक्रिय राजनीति से अलग हो रहा हूं। ” वहीं खेतान के करीबी लोगों का दावा है कि वकालत कर रहे आशीष कानून की उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं और इसी कारण उन्होंने इस्तीफा दिया है। खेतान अभी तक दिल्ली डायलॉग कमीशन के उपाध्यक्ष रहे। वकालत करने के लिए ही उन्होंने दिल्ली डायलॉग कमीशन से इस्तीफा दिया था।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि आप ने दिल्ली सरकार के वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा को आशीष खेतान के स्थान पर नई दिल्ली लोकसभा सीट से उतरने की पेशकश की थी। केजरीवाल चाहते हैं कि पढ़ाई करने के लिए वे पार्टी से छुट्टी ले लें और पढ़ाई पूरी होने के बाद वापस पार्टी के काम में जुट जाएं। फिलहाल उनका इस्तीफा नामंजूर किया जा चुका है।

Share.