इस पाउडर के साथ कंपनी बेच रही कैंसर…

1

अमरीका फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन लंबे समय से आरोप झेल रही है। कंपनी पर आरोप है कि उसके बेबी पाउडर से कैंसर होता है। इस वर्ष अगस्त में अमरीका की मिसौरी की एक अदालत ने बेबी पाउडर से कैंसर होने की बात साबित होने के बाद कंपनी पर 32 हजार करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था।

कंपनी लगातार इन आरोपों को खारिज करती रही है परंतु समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि कंपनी को आज नहीं दशकों पहले से इस बात की जानकारी थी। पाउडर में एस्बेस्टस होता है। एस्बेस्टस से कैंसर का खतरा होता है।

हिप इम्प्लांट विवाद : जॉनसन एंड जॉनसन की चौंकाने वाली लापरवाही

रिपोर्ट के अनुसार, रॉयटर्स ने कंपनी के कई डॉक्यूमेंट्स का अध्ययन किया, जिसमें पता चला कि 1971 से 2000 तक जॉनसन एंड जॉनसन के रॉ पाउडर और बेबी पाउडर की टेस्टिंग में कई बार एस्बेस्टस होने की बात सामने आई है। रिपोर्ट में इस बात का भी ज़िक्र है कि कंपनी ने कॉस्मेटिक टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस की मात्रा को लिमिट करने की कोशिशों के खिलाफ अमरीका रेगुलेटर्स पर दबाव भी बनाया था, जिसमें वह सफल भी रहा।

क्या है एस्बेस्टस ?

एस्बेस्टस एक खनिज है। यह फाइबर या सोनपपड़ी जैसा दिखता है। इसे सीमेंट के साथ मिलाया जा सकता है। पहले इसका इस्तेमाल बहुत होता था, परंतु इसके खतरे पता चलने के बाद यूरोप के कई देशों जापान, दक्षिण कोरिया और तुर्की में प्रतिबंधित किया गया। हालांकि अमरीका और कनाडा में यह प्रतिबंधित नहीं है। ज्यादातर एस्बेस्टस को छत की चादरें, दीवारों के पेनल और पाइप बनाने में सीमेंट के साथ मिलाया जाता है।

OMG : जॉनसन एंड जॉनसन ने स्वीकारी गलती, हजारों ज़िंदगी से हुआ खिलवाड़

जॉनसन एंड जॉनसन पर 1600 करोड़ का जुर्माना

जॉनसन की कंपनी पर 32 हज़ार करोड़ का जुर्माना

Share.